AhlolBayt News Agency (ABNA)

source : ابنا
मंगलवार

11 जून 2024

5:47:15 am
1464741

भारत में 20 करोड़ मुस्लिम आबादी लेकिन एक भी कैबिनेट मंत्री नहीं

नरेंद्र मोदी 2014 में, जब पहली बार सत्ता में आए, तब राज्यसभा सांसद नजमा हेपतुल्ला को अल्पसंख्यक मामलों का मंत्री बनाया गया था, जो कैबिनेट में एकमात्र मुस्लिम प्रतिनिधित्व था। 2004 और 2009 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकारों में मंत्रिपरिषद में क्रमशः चार और पांच मुस्लिम थे।

भारत में एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार का गठन हो गया। भारत में पहली बार ऐसा हुआ है कि बिना किसी मुस्लिम मंत्री के केंद्रीय मंत्रिमंडल का गठन किया गया है। रविवार को अस्तित्व में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में सभी राज्यों, वर्गों और जातियों का प्रतिनिधित्व देने का दावा किया जा रहा है, लेकिन देश की 20 करोड़ मुस्लिम आबादी को इसमें कोई जगह नहीं मिली।

दिलचस्प बात यह है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के निवर्तमान मंत्रिपरिषद में भी कोई मुस्लिम मंत्री नहीं है, क्योंकि भाजपा के मुख्तार अब्बास नकवी अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री के रूप में शपथ लेने के तीन साल बाद 2022 में राज्यसभा के लिए फिर से निर्वाचित होने में नाकाम रहे। मुख्तार भाजपा सरकार के मंत्रिमंडल में एकमात्र मुस्लिम मंत्री थे।

नरेंद्र मोदी 2014 में, जब पहली बार सत्ता में आए, तब राज्यसभा सांसद नजमा हेपतुल्ला को अल्पसंख्यक मामलों का मंत्री बनाया गया था, जो कैबिनेट में एकमात्र मुस्लिम प्रतिनिधित्व था। 2004 और 2009 में कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकारों में मंत्रिपरिषद में क्रमशः चार और पांच मुस्लिम थे।