शेख नईम क़ासिम के साथ अबना संवाददाता की बातचीत

सऊदी अरब को यमन में भारी पराजय का सामना

  • News Code : 706927
  • Source : अबना
Brief

सीरिया के स्टराटेजिक शहर''अलज़बदानी'' की ओर इशारा करते हुए कहा कि अलज़बदानी शहर लेबनान की सीमा पर स्थित है और शहर में आतंकवादियों का पाया जाना बेरूत और दमिश्क के अंतर्राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए सबसे बड़ा खतरा है।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार विश्व अहलेबैत (अ) परिषद की जनरल असेम्बली के छठे सम्मेलन में हिज़्बुल्लाह लेबनान के उप महासचिव ने अबना संवाददाता से बातचीत में कहा सीरिया के स्ट्राटेजिक शहर''अलज़ुबदानी'' की ओर इशारा करते हुए कहा कि अलज़ुबदानी शहर लेबनान की सीमा पर स्थित है और शहर में आतंकवादियों का पाया जाना बैरूत और दमिश्क के अंतर्राष्ट्रीय राजमार्ग के लिए सबसे बड़ा खतरा है।
हुज्जतुल इस्लाम वलमुस्लेमीन शेख नईम क़ासिम ने इस शहर में आतंकवादियों के साथ जारी जंग में हिज़्बुल्लाह को प्राप्त सफलता की खबर देते हुए कहा कि अलज़ुबदानी शहर आतंकवादियों से बचाना बहुत जरूरी है इसलिए हिज़्बुल्लाह और सीरियाई सेना संयुक्त रूप से इस शहर में आतंकवादियों को नष्ट करने में प्रतिबद्ध हैं।


उन्होंने यमन में जारी युद्ध की ओर इशारा किया और कहा: यमन मज़लूम है और सऊदी अरब की आक्रामकता इस देश में लगातार जारी है पिछले पांच महीनों से यमन की मज़लूम जनता सऊदी बमबारी के नीचे धूल और खून में लथपत हो रही हैं।
शेख़ नईम क़ासिम ने यमन में सऊदी अरब को मिली हार की ओर इशारा करते हुए कहा: सऊदी अरब का यमन में इतने व्यापक पैमाने पर तोड़फोड़ करना सिर्फ इस उद्देश्य के लिए था कि वे इस देश से भगाए गए अपने मजदूरों को वापस लौटाऐं जिसमें वह अभी तक विफल रहा है।
उन्होंने कहा कि सऊदी अरब किसी भी मामले में यमन में सफलता प्राप्त नहीं कर सकता चाहे जबतक अपने हमले जारी रखे।
उन्होंने इराक के विभाजन के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि हम निश्चित रूप से इराक के विभाजन के विरोधी हैं और खुद इराक की जनता भी इस बात की विरोधी हैं वे विभाजन जिसकी बात अमेरिका कर रहा है उसमें केवल इस्राईल का लाभ है बाकी किसी को इससे कोई फ़ायदा होने वाला नहीं है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं