$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

ग़ज्ज़ा में घरों पर हवाई हमले जंगी अपराध।

  • News Code : 657379
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

मानवाधिकार संस्था एम्नेस्टी इंटरनेशनल ने ज़ायोनी शासन द्वारा ग़ज़्ज़ा पर 50 दिवसीय हमलों के अंतिम दिनों में चार बहुमंज़िला इमारतों पर हवाई हमलों को युद्ध अपराध क़रार दिया है।

मानवाधिकार संस्था एम्नेस्टी इंटरनेशनल ने ज़ायोनी शासन द्वारा ग़ज़्ज़ा पर 50 दिवसीय हमलों के अंतिम दिनों में चार बहुमंज़िला इमारतों पर हवाई हमलों को युद्ध अपराध क़रार दिया है।
एम्नेस्टी इंटरनेशनल ने मंगलवार को जारी होने वाली अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पिछली गर्मियों में इस्राईल ने ग़ज़्ज़ा पर अपने हमलों के दौरान बहुमंज़िला आवासीय इमारतों को जानबूझ कर निशाना बनाया, जो युद्ध अपराध की श्रेणी में आता है और इस मामले की स्वतंत्र जांच की जानी चाहिए।
लंदन स्थित इस संस्था के मध्यपूर्व व उत्तरी अफ़्रीक़ा मामलों के प्रभारी फ़िलिप लूथर ने कहा है कि हमारे पास ऐसे सुबूत हैं जिनसे साबित होता है कि इस्राईल ने ग़ज़्ज़ा में जानबूझकर बड़े पैमाने पर विनाश किया और निहत्थे लोगों के विरुद्ध युद्ध अपराध किए।
उन्होंने कहा कि ग़ज़्ज़ा के आवासीय क्षेत्र को व्यापक रूप से तबाह किया गया है जिसका कोई सैन्य औचित्य नहीं है। उन्होंने कहा कि इस्राईल के सैन्य अधिकारियों के बयानों और इस्राईली सेना की कार्यवाहियों से पता चलता है कि इन हमलों का लक्ष्य ग़ज़्ज़ा के लोगों को सामूहिक रूप से मारना था।
ज्ञात रहे कि ग़ज़्ज़ा पर ज़ायोनी शासन के 50 दिवसीय हमलों में लगभग 2,200 फ़िलिस्तीनी शहीद हो गए थे जिनमें अधिकतर आम नागरिक थे। इस युद्ध में 73 इस्राईली मारे गए थे जिनमें 67 सैनिक थे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*