आतंकवादियों ने बलोचिस्तान में की 20 मुसाफ़िरों की हत्या।

  • News Code : 692755
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

पाकिस्तान के अशांत दक्षिण-पश्चिमी प्रांत बलोचिस्तान में आतंकवादियों ने दो बसों से मुसाफ़िरों को बंधक बनाने के बाद उनमें से कम से कम 20 मुसाफ़िरों को गोली मार दी।

पाकिस्तान के अशांत दक्षिण-पश्चिमी प्रांत बलोचिस्तान में आतंकवादियों ने दो बसों से मुसाफ़िरों को बंधक बनाने के बाद उनमें से कम से कम 20 मुसाफ़िरों को गोली मार दी।
यह घटना शुक्रवार की शाम बलोचिस्तान के मस्तंग ज़िले में उस वक़्त घटी जब भारी हथियारों से लैस दो दर्जन से ज़्यादा मिलिटेंट्स ने बसों पर हमला कर दिया।
स्थानीय सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने अनेक मुसाफ़िरों को बंधक बनाया और फिर उनमें से कम से कम 20 लोगों को गोली मार दी।
इस बीच बलोचिस्तान प्रांत के सूचना मंत्री अब्दुर रहमान ज़ियारतवाल ने शुक्रवार की रात बताया कि आतंकवादी कुछ मुसाफ़िरों को अभी भी बंधक बनाए हुए हैं और रिपोर्ट मिलने तक इन मुसाफ़िरों को छुड़ाने के लिए अभियान जारी था।अभी तक किसी गुट ने इस घटना की ज़िम्मेदारी नहीं ली है लेकिन विगत में इस तरह के हमले के लिए तालेबान को ज़िम्मेदार ठहराया जाता रहा है। यह हमला ऐसी हालत में हुआ जब ईरान की सीमा से मिले पाकिस्तान के अशांत बलोचिस्तान प्रांत में हालिया महीनों में शिया श्रद्धालुओं को ले जाने वाली अनेक बसों पर आतंकवादी हमले हो चुके हैं।
हर साल दसियों लाख मुसलमान श्रद्धालु ईरान के पवित्र नगर मशहद के दर्शन के लिए जाते हैं जहां पैग़म्बरे इस्लाम के परपौत्र इमाम रज़ा अलैहिस्सलाम का रौज़ा स्थित है।
13 मई को पाकिस्तान के बंदरगाही शहर कराची में आतंकवादियों ने 50 इस्माइली शिया मुसमलानों का जनसंहार किया था।
13 मई को कराची में हुए जनंसहार की ज़िम्मेदारी तालेबान समर्थक आतंकवादी गुट जुन्दुल्लाह ने ली थी जो इससे पहले तकफ़ीरी आतंकवादी गुट आईएसआईएल का घटक बन चुका था।
पाकिस्तान के बलोचिस्तान प्रांत में हालिया दो वर्षों में बंदूक़ और बमों से बहुत से हमले हो चुके हैं।
पाकिस्तानी सेना की ओर से आए दिन कार्यवाही के बावजूद तालेबान समर्थक आतंकवादी और कुछ बलोच आतंकवादी सुरक्षा कर्मियों और नागरिकों पर बहुत से आतंकी हमले कर चुके हैं।
इस बीच एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, बलोचिस्तान में आतंकवादियों के अपराध की पाकिस्तान के राष्ट्रपति और प्रधान मंत्री सहित इस देश के अनेक राजनैतिक दलों और धार्मिक संगठनों ने निंदा की है।
पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधान मंत्री नवाज़ शरीफ़ ने बलोचिस्तान प्रांत में दो बसों पर आतंकवादी हमले की भर्त्सना करते हुए इसे अमानवीय कृत्य बताया। पाकिस्तानी राष्ट्रपति और प्रधान मंत्री ने इस घटना के ज़िम्मेदारों को जल्द से जल्द पकड़ कर न्याय के कटहरे में खड़ा करने का आदेश दिया है।  
इस  बीच एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार, बलोचिस्तान में शुक्रवार की शाम हुयी इस आतंकवादी घटना के विरोध में शनिवार को पूरे बलोचिस्तान में हड़ताल की घोषणा की गयी जिसके कारण सभी कार्यालय, शिक्षा और उपचारिक केन्द्र बंद हैं। 


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं