बहरैन, शांतिपूर्ण प्रदर्शन पर खलीफ़ाई सैनिकों ने छोड़े आंसू गैस के गोले।

  • News Code : 811565
  • Source : विलायत पोर्टल
Brief

बहरैन में शहीद हुए तीन लोगों के अंतिम संस्कार में उनके परिवार वालों के शामिल होने पर लगी रोक के विरोध में देश भर के विभिन्न हिस्सों में लोगों ने आले खलीफा के विरुद्ध प्रदर्शन करते हुए आले खलीफा शासन के खात्मे की मांग की।

बहरैन में शहीद हुए तीन लोगों के अंतिम संस्कार में उनके परिवार वालों के शामिल होने पर लगी रोक के विरोध में देश भर के विभिन्न हिस्सों में लोगों ने आले खलीफा के विरुद्ध प्रदर्शन करते हुए आले खलीफा शासन के खात्मे की मांग की।
बहरैन वासियों ने अपनी आवाज़ दुनिया तक पहुंचाने वाले शहीदों से वफादारी का ऐलान करते हुए कहा कि शहीदों का खून आले खलीफा की गर्दन पर बाक़ी है। रविवार के दिन इन शहीदों को शैख़ मीसम बहरानी के मक़बरे में दफन कर दिया गया।
रिपोर्ट के अनुसार पुलिस शहीदों के परिवार को थाने बुलाकर हर परिवार के दो सदस्यो को अपनी हिरासत में क़ब्रिस्तान तक ले गई। बहरैन के उलमा ने प्रेस नोट जारी कर कहा है कि शहीदों का अंतिम संस्कार सुन्नते पैग़म्बर अर्थात शिया रीति रिवाजों के विपरीत किया गया है।
ज्ञात रहे कि आले खलीफा ने कल शहीदों की माँओं को जनाज़े में शामिल होने की सूरत में गोलियों से भूनने की धमकी दी थी।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

قدس راه شهداء
*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky