$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

तुर्की में सैन्य तख्तापलट की आड़ में तानाशाही।

  • News Code : 768919
  • Source : शफकना
Brief

तुर्क डेमोक्रेटिक पार्टी के उपाध्यक्ष “अल्टी नोर्स” ने आर टी के साथ इंटरव्यू में कहा कि तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान असफल तख्तापलट का ग़लत इस्तेमाल करके देश में तानाशाही शासन थोपने की कोशिश कर रहे हैं

अहलेबैत समाचार एजेंसी अबनाः तुर्क डेमोक्रेटिक पार्टी के उपाध्यक्ष “अल्टी नोर्स” ने आर टी के साथ इंटरव्यू में कहा कि तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान असफल तख्तापलट का ग़लत इस्तेमाल करके देश में तानाशाही शासन थोपने की कोशिश कर रहे हैं।
उन्होंने तुर्की में हुए हालिया तख्तापलट पर टिप्पणी करते हुए कहा कि जब तक देश की सरकार खास कर राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान देश में लोकतंत्र की बहाली को सुनिश्चित नहीं बनाएंगे तब तक सैनिक बगावतों का सिलसिला जारी रहेगा क्योंकि तख्तापलट लोकतांत्रिक सरकारों में नहीं बल्कि सत्तावादी सरकारों में होते हैं।
उन्होंने ओर्दोगान सरकार द्वारा आपातकाल लागू करने और कई टीवी चैनलों और समाचार पत्रों को बंद करने और उनके संपादकों को गिरफ्तार करने को तख्तापलट के विरूद्ध लड़ने के तरीके को अप्रभावी बताया।
उपाध्यक्ष ने कहा कि अगर तुर्की राष्ट्रपति ने कुर्दों के विरूद्ध लड़ाई और पड़ोसी देश सीरिया के आंतरिक मामलों में बेजा दखल न दिया होता तो अंकारा को तख्तापलट का सामना नहीं करना पड़ता।
उन्होंने कहा कि तुर्की में तब तक शांति नहीं हो सकती है जब तक अंकारा सरकार पड़ोसी देश सीरिया में अपना बेजा हस्तक्षेप बंद नहीं करती है क्योंकि अंकारा सरकार की शत्रुतापूर्ण नीतियों के कारण यह देश अब अपने सभी पड़ोसी देशों से अलग-थलग पड़ रहा है।
अल्टी नोर्स ने कहा कि रजब तईप ओर्दोगान की नीतियों, आपातकाल लगाने और हिरासत में लिए गए सैनिकों, संवाददाताओं और अन्य महत्वपूर्ण कार्यकर्ताओं के खिलाफ़ हिंसक गतिविधियों से अंकारा सरकार के विरूद्ध तुर्की जनता का रूझान बदल सकता है जो ओर्दोगान के लिए काफी महंगा साबित होगा।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*