हिज़बुल्लाह एक प्रतिरोधक संगठन है न आतंकवादी।

  • News Code : 740744
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

फ़ार्स की खाड़ी सहकारिता परिषद की ओर से हिज़बुल्लाह को आतंकवादी गुट घोषित किये जाने को, लेबनान के विदेशमंत्री ने अरब समझौते का विरोधी बताया है।

फ़ार्स की खाड़ी सहकारिता परिषद की ओर से हिज़बुल्लाह को आतंकवादी गुट घोषित किये जाने को, लेबनान के विदेशमंत्री ने अरब समझौते का विरोधी बताया है।
जिब्रान बासील ने शनिवार को कहा कि यह निर्णय, आतंकवाद के विरुद्ध अरब संघ के अभियान के विरुद्ध है। उन्होंने कहा कि इसमें प्रतिरोध और आतंकवाद को अलग-अलग रखा गया है।
दूसरी ओर जार्डन नदी के पश्चिमी तट पर फ़िलिस्तीनियों ने फ़ार्स की खाड़ी सहकारिता परिषद के निर्णय के विरोध में प्रदर्शन किये हैं।
फ़िलिस्तीनियों का कहना है कि इस प्रकार प्रतिरोध को आतंकवादियों की सूचि में सम्मिलित किया जा रहा है। फ़िलिस्तीनियों का कहना है कि ज़ायोनी शासन का समर्थन करने वालों और उसका विरोध करने वालों में बहुत अंतर है।
फ़िलिस्तीनियों का कहना है कि फ़ार्स की खाड़ी सहकारिता परिषद की ओर से हिज़बुल्लाह को आतंकवादी गुट घोषित किये जाने जैसी निंदनीय कार्यवाही के बाद अब किसी भी समय फ़िलिस्तीनियों के प्रतिरोध आन्दोलन को भी इस प्रकार की सूचि में सम्मिलित किया जा सकता है।
ज्ञात रहे कि हाल ही में फ़ार्स की खाड़ी सहकारिता परिषद ने हिज़बुल्लाह को आतंकवादी गुट घोषित किया है जिसकी अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर निंदा की जा रही है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं