$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

इस्राईल हिंसा और अशांति को भड़का कर आग से खेल रहा है।

  • News Code : 710869
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

फ़िलिस्तीन स्वतंत्रता संगठन पी एल ओ ने पवित्र मस्जिदुल अक़्सा में नमाज़ियों पर इस्राइली सैनिकों के हमले की निंदा की है और बल दिया है कि तेल अबिब शासन हिंसा और अशांति को भड़का कर आग से खेल रहा है।

फ़िलिस्तीन स्वतंत्रता संगठन पी एल ओ ने पवित्र मस्जिदुल अक़्सा में नमाज़ियों पर इस्राइली सैनिकों के हमले की निंदा की है और बल दिया है कि तेल अबिब शासन हिंसा और अशांति को भड़का कर आग से खेल रहा है।
पी एल ओर की कार्यकारिणी की सदस्य हन्नान अशरावी ने सोमवार को बैतुल मुक़द्दस में ब्रितानी वाणिज्य दूत एलिस्टर मैक्फ़िल से मुलाक़ात में कहा कि इस्राईल आग से खेल रहा है। उन्होंने कहा कि इस्राइली शासन जान बूझ कर अशांति, अस्थिरता और हिंसा फैलाने की कोशिश कर रहा है।
हन्नान अशरावी ने कहा कि नए यहूदी साल की छुट्टियों और ईदुल अज़हा के मौक़े पर फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ इस्राइली सैनिकों के हालिया धावे से पूरे इस्लामी जगत का आक्रोश भड़केगा।
ज्ञात रहे मस्जिदुल अक़्सा मक्के में मस्जिदुल हराम और मदीने में मस्जिदुन्नबी के बाद इस्लामी जगत का तीसरा सबसे पवित्र स्थल है। ईसाई और यहूदी भी मस्जिदुल अक़्सा से बहुत श्रद्धा रखते हैं।
पी एल ओर की कार्यकारिणी की सदस्य हन्नान अशरावी ने कहा कि इस्राइली अधिकारी मस्जिदुल अक़्सा को बल पूर्वक अपने हाथ में लेना चाहते हैं। इस लक्ष्य के लिए इस्राइली अधिकारी मस्जिदुल अक़्सा के ढांचे को बदलने की कोशिश कर रहे हैं।
कई दशक से इस्राईल क़ुद्स की जनसांख्यिकीय संरचना को बदलने में लगा हुआ है। इसके लिए वह क़ुद्स में ग़ैर क़ानूनी कॉलोनियों का निर्माण कर रहा है, ऐतिहासिक इमारतों को गिरा रहा है और फ़िलिस्तीनी निवासियों को इस शहर से बाहर निकाल रहा है।
ज्ञात रहे ज़ायोनी सैनिकों ने सोमवार को मस्जिदुल अक़्सा के प्रांगण पर हमला करके फ़िलिस्तीनी नमाज़ियों पर प्लास्टिक की गोलियां चलायीं और आंसू गैस के गोले फ़ायर किए। इस हमले में कई फ़िलिस्तीनी घायल हो गए। यहूदियों की नए साल की छुट्टी पर मस्जिदुल अक़्सा के प्रांगण में ज़ायोनी सैनिकों की तैनाति के कारण रविवार को भी इसी तरह की झड़प हुयी थी।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*