मानवीय सहायता का रास्ता रोकने के लिए सनआ पर सऊदी हमला

  • News Code : 687305
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

यमन के लिए मानवीय सहायता लेकर सनआ जा रहे ईरान के विमान को सऊदी युद्धक विमानों ने वापस लौटने पर मजबूर कर दिया।

यमन के लिए मानवीय सहायता लेकर सनआ जा रहे ईरान के विमान को सऊदी युद्धक विमानों ने वापस लौटने पर मजबूर कर दिया।
प्रेस टीवी के अनुसार ईरान का एक विमान ओमान और यमन के एविएशन अधिकारियों के अनुमति से यमन की वायु सीमा में प्रविष्ट हुआ किंतु वह सनआ के अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर उतर नही सका क्योकि सऊदी युद्ध विमानों ने एयरपोर्ट के रनवे और कंट्रोल टावर पर हमला कर दिया। हमले में रनवे पर खड़ा यमन का एक यात्री विमान पूरी तरह जलकर राख हो गया।
ईरानी विमान के पायलट ने बताया कि सऊदी युद्धक विमानों ने ईरानी विमान को सऊदी ज़बरदस्ती अरब के भीतर लैंडिंग करवाने की कोशिश की। बेहज़ाद सदाक़त ने बताया कि यमन की वायु सीमा में प्रवेश के 15 मिनट बाद सऊदी सरकार की ओर से संदेश दिया गया कि आपको सनआ एयरपोर्ट पर उतरने की अनुमति नहीं है। कैप्टन बेहज़ाद सदाक़त ने इसके उत्तर में सऊदी कंट्रोल टावर को बताया कि हम यमन की वायु सीमा में हैं और इस विषय का सऊदी अरब से कोई मतलब नहीं है, हम सनआ को जवाबदेह हैं, विमान पर मानवीय सहायता की खेप लादी गई है जिससे सनआ एयरपोर्ट पर चेक किया जा सकता है। इसके बाद सऊदी अरब की ओर से कहा गया कि यदि विमान आगे बढ़ता रहा तो युद्ध विमान उड़ान भरेंगे। कैप्टन सदाक़त के अनुसार इसके बाद सऊदी युद्धक विमान उड़ान भरकर बहुत क़रीब आ गए और हमसे कहा गया कि हम सऊदी अरब की सीमा में लैंडिंग करें।
कैप्टन सदाक़त ने कहा कि हमने इस चेतावनी पर कोई ध्यान दिए बिना सनआ की ओर प्रगति जारी रखी किंतु सनआ एयरपोर्ट के क़रीब पहुंचने के बाद विचित्र दृष्य दिखाई दिया, एयरपोर्ट के रनवे पर सऊदी विमानों ने कई मीज़ाइलों और बमों से हमला कर दिया। इस स्थिति को देखने के बाद ईरानी विमान को वापस लौटना पड़ा।   
इससे पहले गत 22 अप्रैल को भी सऊदी युद्धक विमानों ने मानवीय सहायता लेकर यमन जा रहे ईरान के विमान का रास्ता रोक दिया था जिस पर ईरान के विदेश मंत्रालय ने सऊदी दूतावास के प्रभारी को बुलाकर आपत्ति जताई थी।
ईरान के अधिकारियों का कहना है कि ओमान यमन रूट पर उड़ान के लिए आवश्यक अनुमति प्राप्त की जा चुकी है और अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रास सोसायटी ने भी इसकी अनुमति दे दी है किंतु इसके बावजूद सऊदी अरब बार बार रुकावट डाल रहा है।
ईरान के विदेश उपमंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियान गत रविवार को अपने बयान में कह चुके हैं कि सऊदी अरब की ओर से उठाए जा रहे इस क़दम का उत्तर ज़रूर दिया जाएगा।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1440 / 2019
conference-abu-talib
We are All Zakzaky