$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

अबू बकर बग़दादी ने दी कुवैत पर क़ब्ज़ा करने की धमकी।

  • News Code : 629621
  • Source : एरिब डाट आई आर
Brief

आतंकवादी संगठन आईएसआईएल के प्रमुख अबू बकर बग़दादी ने कहा है कि अमरीका के साथ युद्ध के लिए वह कुवैत पर क़ब्ज़ा करेगा।

अबनाः आतंकवादी संगठन आईएसआईएल के प्रमुख अबू बकर बग़दादी ने कहा है कि अमरीका के साथ युद्ध के लिए वह कुवैत पर क़ब्ज़ा करेगा।
इराक़ की सूमरिया समाचार एजेन्सी ने जार्डन से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र अस्सौसना के हवाले से सूचना दी है कि अबूबक्र बग़दादी ने जिसने स्वयं को पूरे विश्व के मुसलमानों का ख़लीफ़ा घोषित कर रखा है, अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि हमें अमरीका से कुछ हिसाब किताब बराबर करना बाक़ी है। अबूबक्र बग़दादी ने कहा है कि हमारे हाथ तो अमरीका तक नहीं पहुंच सकते इसलिए अमरीका ही हमारे पास आएगा।
बग़दादी ने कहा है कि यह काम कुवैत पर क़ब़्ज़ा करके किया जा सकता है। उसके कहा कि उसके बाद अमरीका वहां आएगा और फिर हम वहां पर अमरीका से हिसाब चुकाएंगे और बदला लेंगे। इसी बीच कुवैत के सुरक्षा अधिकारियों ने घोषणा की है कि इस देश के उन लोगों पर नज़र रख रहे हैं जो ट्विटर पर आईएसआईएल का समर्थन करते हैं और लोगों को कुवैत की आंतरिक सुरक्षा को क्षति पहुंचाने के लिए प्रेरित करते हैं। इन सूत्रों का कहना है कि ऐसे लोगों के बारे में सूचनाए एवं प्रमाण एकत्रित करने के पश्चात उनके विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी। रोचक बात यह है कि अबूबक्र बग़दादी की ओर से अमरीका के साथ तथाकथित युद्ध का यह दावा ऐसी स्थिति में किया गया है कि जब इस बात की रिपोर्टें सामने आ चुकी हैं कि बग़दादी को ट्रेंड करने में अमरीका और ज़ायोनी शासन का हाथ है।
अमरीका के हाथों इराक़ के अतिग्रहण के दौरान अबूबक्र बग़दादी को अमरीकी सैनिकों ने बंदी बनाया था और अमरीकी सैनिकों के इराक़ के चले जाने के बाद अबूबक्र बग़दादी के साथ ही अलक़ाएदा के कुछ आतंकवादियों को स्वतंत्र कर दिया गया था।
उधर इराक़ की रेडक्रिसेंट संस्था ने आईएसआईएल के आतंकवादियों के हाथों इराक़ की ईसाई और ईज़ेदी समुदाय की औरतों के अपहरण की सूचना दी है। इस संस्था के प्रवक्ता मुहम्मद अलख़ज़ाई ने कहा है कि आईएसआईएल के आतंकी इन महिलाओं का अपहरण, उनको बेचने के उद्देश्य से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन आतंकवादियों ने तेलअफ़र हवाई अड्डे पर बहुत सी ईसाई, ईज़ेदी और तुर्कमन महिलाओं को बंदी बनाकर रखा है।
आईएसआईएल के आतंकवादियों ने इन महिलाओं को अपहरित करने के बाद उनके पुरुषों की हत्या कर दी। इराक़ की रेडक्रिसेंट संस्था के प्रवक्ता मुहम्मद अलख़ज़ाई ने इराक़ सरकार और अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं से मांग की है कि वे आईएसआईएल के नियंत्रित क्षेत्रों में दयनीय मानवीय स्थिति को दूर करने का भरसक प्रयास करे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*