तकफ़ीरियों के साथ धर्म व सम्मान की लड़ाई अपने आख़िरी चरण मेः नसरुल्लाह

  • News Code : 691762
  • Source : wilayat.in
Brief

हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि तकफ़ीरी आतकवादियों के साथ लड़ाई अत्यंत महत्वपूर्ण और निर्णायक है और शीघ्र ही आम लामबंदी की घोषणा की जाएगी।

हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव ने हसन नसरुल्लाह ने कहा है कि तकफ़ीरी आतकवादियों के साथ लड़ाई अत्यंत महत्वपूर्ण और निर्णायक है और शीघ्र ही आम लामबंदी की घोषणा की जाएगी।
सैयद हसन नसरुल्लाह ने शुक्रवार की शाम इस्लामी प्रतिरोध के कमांडरों व संघर्षकर्ताओं के एक बड़े समूह को वीडियो कान्फ़्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि प्रतिरोध, सही अर्थ में तकफ़ीरियों के साथ एक निर्णायक बल्कि धर्म व सम्मान की लड़ाई के चरण में पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि अगर हम हलब, होम्स और दमिश्क़ में तकफ़ीरियों के साथ संघर्ष न करें तो फिर हमें बअलबक, हरमल, ग़ाज़िया, सूर, सैदा, नब्तिया और इसी तरह के दूसरे लेबनानी शहरों व देहातों में उनके साथ लड़ना पड़ेगा। हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने कहा कि यदि इस लड़ाई में हमारे 50 या 75 प्रतिशत लोग भी मारे जाएं तो बाक़ी 25 या 50 प्रतिशत लोग सम्मान और प्रतिष्ठा के साथ जीवन बिताएंगे और यही सर्वोत्तम विकल्प है और अगर ईश्वर ने चाहा तो इस संख्या में हमारे लोगों के शहीद होने की नौबत ही नही आएगी।
सैयद हसन नसरुल्लाह ने इस बात पर बल देते हुए कि वर्तमान परिस्थितियों में जब प्रतिरोध के ख़िलाफ़ अत्यंत कड़े हमले हो रहे हैं, बहुत अधिक बलिदान की ज़रूरत है, कहा कि सऊदी अरब, क़तर और तुर्की के आपसी मतभेद समाप्त हो गए हैं जबकि पहले उनमें आपस में ठनी रहती थी और अब वे मिलकर हमसे लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर हम हिम्मत से काम लें और हर कोई अपने दायित्व भर साहस दिखाए तो हम न केवल उन्हें हरा सकते हैं बल्कि उनकी हड्डियां भी तोड़ सकते हैं और विजय हमारी ही होगी। हिज़्बुल्लाह के महासचिव ने इस बात पर बल देते हुए कि अगले चरण में हम आम लामबंदी की घोषणा करेंगे, उन्होनें कहा कि हमने पहले भी कहा था कि सीरिया में लड़ना आवश्यक है और अब भी यही कह रहे हैं कि वहां रहना ज़रूरी है हम तकफ़ीरियों को कभी भी इस बात की अनुमति नहीं देंगे कि वो और उनके समर्थक, अपने षड्यंत्रों को लेबनान में फैलाएं। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि हम तकफ़ीरियों से लड़ रहे हैं और खेद के साथ कहना पड़ता है कि कुछ लोग हम पर विश्वासघात का आरोप लगाते हैं, हमारे बारे में संदेह पैदा करते हैं और लोगों को हमारे ख़िलाफ उकसाते हैं।
लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह ने बल देकर कहा कि आज मैं ये ऐलान करता हूँ कि जहां भी आवश्यक होगा हम खुली आंखों के साथ, किसी भी पक्ष से अनुमति लिए बिना लड़ेंगे और अब से कभी भी चुप नहीं रहेंगे क्योंकि हमारे पास ऐसे मज़बूत मोहरे हैं जिन्हें हमने अब तक तकफ़ीरियों के विरुद्ध लड़ाई में इस्तेमाल नहीं किया है। उन्होंने ये भी कहा कि हमने अलक़लमून में ईश्वर की सहायता से इतना बड़ा अभियान चलाया, कार्यक्रम तैयार किए और ईश्वर ने हमें पहाड़ियों और चोटियों पर कामयाबी बख़शी तो यदि हम इसी प्रकार अभियान जारी रखें तो अंतिम विजय के बारे में ईश्वर का वादा भी निश्चित रूप से पूरा हो कर रहेगा।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1440 / 2019
conference-abu-talib
We are All Zakzaky