$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती का फ़त्वा, ईरानी मुसलमान ही नहीं हैं।

  • News Code : 777316
  • Source : तेहरान रेडियो
Brief

सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती ने हज के बारे में ईरान के वरिष्ठ नेता के संदेश पर प्रतिक्रिया प्रकट करते हुए कहा है कि ईरानी मुसलमान ही नहीं हैं।

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती ने हज के बारे में ईरान के वरिष्ठ नेता के संदेश पर प्रतिक्रिया प्रकट करते हुए कहा है कि ईरानी मुसलमान ही नहीं हैं।
इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के हज संदेश पर सऊदी शासकों ने तीखी प्रतिक्रिया प्रकट की है जिसके बाद सऊदी अरब के सरकारी वह्हाबी मुफ्ती अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शेख ने मक्का समाचार पत्र से एक वार्ता में ईरान के वरिष्ठ नेता को इस्लाम का "शत्रु" बताया और दावा किया कि उनका बयान, सुन्नी मुसलमानों से विरोध के कारण है।
वहाबी विचार धारा के संस्थापक मुहम्मद बिन अब्दुलवहाब के वंश से संबंध रखने वाले मुफ्ती आले शेख ने कहाः "सऊदी अरब की ओर से हज का इंतेज़ाम संभालने पर ईरानी नेता द्वारा टिप्पणी आशा के विपरीत नहीं है और हमें यह जान लेना चाहिए कि यह लोग मुसलमान नहीं हैं बल्कि यह लोग, आग की पूजा करने वालों की संतान हैं और मुसलमानों विशेष कर सुन्नी मुसलमानों से उनकी दुश्मनी बहुत पुरानी है।"
सऊदी अरब के वहाबी हमेशा खुद को सुन्नी मुसलमानों में शामिल करने का प्रयास करते हैं।
याद रहे अब्दुल अज़ीज़ बिन अब्दुल्लाह आले शेख सऊदी अरब के सरकारी मुफ्ती हैं और हमेशा सऊदी शासकों के इशारों पर फतवे देते हैं।
इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने हज के अवसर पर अपने संदेश में कहा है कि हाजियों के साथ सऊदी शासकों के अत्याचारपूर्ण व्यवहार की वजह से इसलामी जगत को हज संस्कार का इंतेज़ाम संभालने के विषय पर गंभीरता से विचार करना चाहिए अन्यथा इस्लामी राष्ट्र अधिक बड़ी समस्याओं में ग्रस्त हो जाएगा।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*