नाइजीरिया के शिया धर्मगुरू मौलाना ज़कज़ाकी पर हमले के पीछे किसका हाथ?

  • News Code : 725171
  • Source : अबना
Brief

भारत में मजलिसे उलमा व ख़ुतबा के महासचिव हुज्जतुल इस्लाम सैयद कल्बे जव्वाद साहब ने नाइजीरिया के शिया नेता शेख इब्राहिम ज़कज़ाकी पर नाइजीरिया सेना द्वारा हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है।

अहलेबैत (अ) न्यूज़ एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार भारत में मजलिसे उलमा व ख़ुतबा के महासचिव हुज्जतुल इस्लाम सैयद कल्बे जव्वाद साहब ने नाइजीरिया के शिया नेता शेख इब्राहिम ज़कज़ाकी पर नाइजीरिया सेना द्वारा हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है।
उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा: मौलाना शेख इब्राहिम ज़कज़ाकी पिछले 35 सालों से नाइजीरिया में इस्लाम की सही तस्वीर पेश कर रहे हैं, इस बीच उन्होंने लाखों लोगों को असली इस्लाम से परिचित कराया है।
लखनऊ के इमामे जुमा ने कहा: मौलाना शेख इब्राहिम ज़कज़ाकी नाइजीरिया सरकार के भ्रष्टाचार और बोको हराम आतंकवादी गिरोह के सरकार के साथ संबंधों के सिलसिले में लगातार आवाज उठाते रहे हैं जिसकी वजह से विभिन्न अवसरों पर उनके चाहने वालों पर सरकार और बोको हराम आतंकवादी गिरोह द्वारा हमला होता रहा है।
उन्होंने कहा: कुछ दिनों पहले जिस तरह रात के अंधेरे में नाइजीरिया की सेना ने एक झूठे आरोप के आधार पर मौलाना शेख इब्राहिम ज़कज़ाकी के घर और इमामबाड़े बक़ीयतुल्लाह को चारों ओर से घेर लिया और पूरी रात क्रूर रूप से गोलियों की बारिश की गई इससे मालूम होता है कि वह शेख ज़कज़ाकी और उनके आंदोलन को दबाने की कोशिश कर रहे हैं।
मौलाना सैयद कल्बे जव्वाद ने कहा: नाइजीरिया की सेना द्वारा हमले में सौ से भी अधिक बेगुनाह मुसलमानों की जान गई है और प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार इसमें उनकी पत्नी और एक बेटा भी शहीद हो गया है, इससे पहले भी कुद्स दिवस के हिसाब से आयोजित अफ्रीका की सबसे बड़ी रैली जिसमें बहुत सारे मुसलमान जो इस्राईल के खिलाफ फ़िलिस्तीनियों के समर्थन में आवाज उठा रहे थे उन पर भी हमला किया गया था और भारी संख्या में इस्राईल के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले मुसलमानों को शहीद किया गया जिसमें मौलाना ज़कज़ाकी के तीन पुत्र भी शहीद हुए थे।
उन्होंने बल देते हुए कहा: शेख़ ज़कज़ाकी पर हमला इस्राईल के इशारे पर ही हो रहा है वरना कुद्स रैली से नाइजीरिया सरकार को क्या नुकसान हो सकता था, अभी तक जितने भी हमले हुए हैं उनमें निशाना शेख़ ज़कज़ाकी को बनाया गया है लेकिन बहुत से मुसलमानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर अपने नेता की जान की रक्षा की है इस बार भी मुसलमानों ने मौलाना ज़कज़ाकी के घर के चारों ओर घेरा बना दिया था ताकि उनकी जान को खतरा न हो इसी कारण कई लोग शहीद हुए।
मजलिसे उलमा व ख़ुतबा के महासचिव ने कहा: शेख़ ज़कज़ाकी द्वारा पूरे अफ्रीका में वास्तविक इस्लाम का प्रचार हो रहा है जो इस्लाम के दुश्मनों को सहन नहीं हो रहा है और इसी आधार पर बार बार उन पर हमला किया जा रहा है और इस बार हमले में उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया गया और गिरफ्तार कर लिया गया और उनके इमामबाड़े और घर को बुलडोजर से नष्ट कर दिया गया।
हुज्जतुल इस्लाम सैयद कल्बे जव्वाद ने बल देते हुए कहा नाइजीरिया सरकार द्वारा इस क्रूर हमले की हम निंदा करते हैं और भारत सरकार से अपील करते हैं कि नाइजीरिया राजदूत पर दबाव डाला जाए कि मौलाना ज़कज़ाकी के साथ हो रहे अत्याचार बंद करे और उन्हें जल्द से जल्द रिहा करे।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं