अक़ीदत के साथ मनाया गया चेहलुम, सड़कों पर अदा हुई ज़ोहर की नमाज़।

  • News Code : 658683
  • Source : wilayat.in
Brief

करबला में शहीद हुए इमाम हुसैन (अ) और उनके सहाबा के चेहलुम की याद में आज दिल्ली तथा लखनऊ सहित पूरे भारत में अक़ीदत के साथ मनाई गई। लखनऊ में विक्टोरिया स्ट्रीट पर स्थित इमाम बाड़े नाज़िम साहब से ऐतिहासिक चेहलुम का जुलूस दुःख भरे माहौल में अक़ीदतमन्दों के सैलाब व गगन भेदी नारों के साथ अक़ीदत व सम्मानपूर्वक निकाला गया। जुलूस करबला तालकटोरा में जाकर सम्पन्न हुआ।

करबला में शहीद हुए इमाम हुसैन (अ) और उनके सहाबा के चेहलुम की याद में आज दिल्ली तथा लखनऊ सहित पूरे भारत में अक़ीदत के साथ मनाई गई। लखनऊ में विक्टोरिया स्ट्रीट पर स्थित इमाम बाड़े नाज़िम साहब से ऐतिहासिक चेहलुम का जुलूस दुःख भरे माहौल में अक़ीदतमन्दों के सैलाब व गगन भेदी नारों के साथ अक़ीदत व सम्मानपूर्वक निकाला गया। जुलूस करबला तालकटोरा में जाकर सम्पन्न हुआ।
जुलूस में शामिल अलम, ताज़िया, ताबूत और अमारी सहित सभी पवित्र चीज़ों की ज़ियारत कर अक़ीदतमन्दों ने दुआएं मांगी। जुलूस से पहले मौलाना कल्बे जवाद ने इमाम बाड़ा नाज़िम साहब में मजलिस को सम्बोधित करते हुए शाम के क़ैदख़ाने से हुसैनी क़फ़िले की रिहाई का मन्ज़र बयान करते हुए करबला पहुंचने की घटना बयान की। मौलाना जवाद ने कहा कि जब रिहाई का हुक्म हुआ तो सबसे पहले जनाबे ज़ैनब ने करबला जाने की इच्छा व्यक्त की और करबला पहुंच कर जनाबे ज़ैनब ने हुसैन का मातम बरपा किया। मजलिस के बाद निकाले गए चेहलुम के जुलूस में शहर की सभी अन्जुमनों ने अपने अलम के साथ भाग लेकर नौहा व मातम किया। म
जलिस के बाद सबसे पहले अन्जुमने अब्बासिया इमामिया पहुंची और “क़ैद ख़ाने में हुक्मे अमीरे शाम, चेहलुम हुआ तमाम चेहलुम हुआ तमाम” की सदाओं के साथ जुलूस निकाला गया। जुलूस में अन्जुमने शमशीरे हैदरी ने जब इमाम हुसैन की बेटी जनाबे सकीना की याद में “मेरी सकीना को नींद आगई है” पढ़ा तो अक़ीदत मन्दों की आंखें भर आईं। मातमी अन्जुमनें नौहा व मातम करती हुई जुलूस के साथ करबला तालकटोरे पहुंचीं और वहां पर अलविदाई नौहे के साथ जुलूस का समापन हुआ।
ग़ौरतलब है दिल्ली में भी हज़ारो की संख्या की में अज़ादारों नें या हुसैन या हुसैन के नारों के साथ जुलूस निकाला और जुलूस ही के दौरान ज़ोहर की नमाज़ सड़कों पर अदा की, नमाज़ ज़ोहर सुप्रीम लीडर हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई के प्रतिनिधि हुज्जतुल इस्लाम वल मुस्लेमीन महदी महदवीपूर की इमामत में अदा की गई।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं