$icon = $this->mediaurl($this->icon['mediaID']); $thumb = $this->mediaurl($this->icon['mediaID'],350,350); ?>

सऊदी अरब के इमाम ने अबू बकर बग़दादी को बताया ग़ुंडों का सरग़ना।

  • News Code : 623400
Brief

सऊदी अरब में मस्जिदुल हराम के इमाम व ख़तीब तथा मक्का के प्रभावी जज सालेह आले तालिब ने दाइश की इस्लामी ख़िलाफ़त पर हमला करते हुए इसके “ख़लीफ़ा” को ग़ुंडों का सरग़ना बताया है।

सऊदी अरब में मस्जिदुल हराम के इमाम व ख़तीब तथा मक्का के प्रभावी जज सालेह आले तालिब ने दाइश की इस्लामी ख़िलाफ़त पर हमला करते हुए इसके “ख़लीफ़ा” को ग़ुंडों का सरग़ना बताया है।
राय अल यौम वेबसाइट ने रिपोर्ट दी है कि मस्जिदुल हराम के जुमे के ख़तीब ने जुमे के अपने ख़ुत्बे में कहा कि कुछ लोगों के निकट स्वतंत्रता का अर्थ अपने भाई बंधुओं की ज़मीनों पर क़ब्ज़ा करना है और उनके निकट हत्या व जनसंहार एक मनोरंजन में परिवर्तित हो गया है।
उन्होंने सीरिया और इराक़ में दाइश के आतंकियों के अपराधों और महिलाओं के अनादर की निंदा की और दाइश द्वारा महिलाओं को दासियां बनाए जाने की कड़ी आलोचना की।
उन्होंने कहा कि दाइश का गठन अंतर्राष्ट्रीय गुप्तचर संस्थाओं ने किया है।
काबे के ख़तीब और इमाम का कहना था कि इन लोगों ने मज़लूम लोगों की ओर से न्याय पूर्ण जीवन के मांग को पूरी तरह से खराब कर दिया और उन्हें बदनाम कर दिया है।
मस्जिदुल हराम के ख़तीब ने कहा कि जो लोग इस्लामी खिलाफत का झंडा उठाए हुए हैं उन पर पैग़म्बरे इस्लाम (सलल्लाहो अलैह व आलेही व सल्लम) का वह कथन सच्चा उतरता है जिसमें वे कहते हैं कि वह लोग बहुत बुरे लोग हैं ।
उनका कहना था कि इन लोगों ने मुसलमानों के साथ अत्याधिक बुरा किया है और बहुत बड़ी संख्या में मुसलमान युवाओं को धोखा दिया है।
सऊदी अरब के वरिष्ठ धर्मगुरु सालेह आले तालिब ने कहा कि यह इस्लामी खिलाफत का दावा करने वालों का कहना है कि दुनिया में केवल उसी स्थान पर इस्लामी सरकार का गठन हो सकता है जिन पर उनके चेलों ने क़ब्ज़ा किया हो।
आले तालिब का कहना है कि यह संगठन केवल मुसलमानों का ही ख़ून बहा रहा है और इसके षड्यंत्र केवल इस्लामी देशों में ही चल रहे हैं।
उन्होंने अपने भाषण के अंत में ग़ज़्ज़ा पर इस्राईल के पाश्विक हमलों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अत्याचार पर चुप रहने से विश्व में शांति स्थापित नहीं हो सकती।
उन्होंने सचेत किया कि ज़ायोनियों के अपराधों पर चुप रहने से भाग में वह आग लिख दी जाएगी जो कभी नहीं बुझती।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*