सय्यद हसन नस्रुल्लाहः

रसूले इस्लाम (स.) के व्यक्तित्व की प्रतिरक्षा, सारे ईशदूतों की प्रतिरक्षा है

  • News Code : 348990
हिज़्बुल्ला के महासचिव और इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन के प्रमुख सैयद हसन नस्रुल्लाह ने अलमिनार और अल-आलम पर सीधे प्रसारित होने वाले भाषण में रसूल अल्लाह सल्लल्लाहो अलैहे व आलिही व सल्लम के समर्थन को सभी नबियों और आसमानी धर्मों की प्रतिरक्षा बताते हुए कहा एक बार फिर दुश्मनों की ओर से दुनिया की सबसे पवित्र हस्ती के अपमान का उद्देश्य दुनिया के मुसलमानों और ईसाइयों के बीच मतभेद पैदा करना है और इस बार ईसाइयों को दुश्मनों के लक्ष्य प्राप्त करने का साधन बनाया है.......

अहलेबैत (अ) समाचार एजेंसी अबना की रिपोर्ट के अनुसार हिज़्बुल्ला के महासचिव और इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन के प्रमुख सैयद हसन नस्रुल्लाह ने अलमिनार और अल-आलम पर सीधे प्रसारित होने वाले भाषण में रसूल अल्लाह सल्लल्लाहो अलैहे व आलिही व सल्लम के समर्थन को सभी नबियों और आसमानी धर्मों की प्रतिरक्षा बताते हुए कहा एक बार फिर दुश्मनों की ओर से दुनिया की सबसे पवित्र हस्ती के अपमान का उद्देश्य दुनिया के मुसलमानों और ईसाइयों के बीच मतभेद पैदा करना है और इस बार ईसाइयों को दुश्मनों के लक्ष्य प्राप्त करने का साधन बनाया है।सय्यद हसन नस्रुल्लाह ने कहा: अपमानजनक फिल्म पर मुसलमानों का ग़म और ग़ुस्सा ईसाइयों पर नहीं है बल्कि अमेरिका पर है और किसी को भी इस अमरीकी षड़यंत्र के जाल में नहीं फंसना चाहिए।उन्होंने कहा अमेरिका को इस अपमानजनक फिल्म के बदले सज़ा मिलनी चाहिए।विचार अभिव्यक्ति के दोहरे मापदंडसैयद हसन नस्रुल्लाह ने कहा: अमेरिकी सरकार बयान की स्वतंत्रता के बहाने घोषणा करती है कि इस फिल्म की तैयारी और प्रसारण में शामिल तत्वों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेगी हालांकि जो लोग जायोनियों के विरोधी मत वाले होते हैं उन्हें अमेरिकी सरकार सज़ाएँ देती है जो विचार अभिव्यक्ति के लिए अमेरिका के दोहरे मापदंडों का सबूत है।उन्होंने सवाल उठाया: क्या मुसलमानों को यह अधिकार नहीं है कि उन्हें होलोकास्ट का इंकार करने वालों के लिए बनाए जाने वाले कानून की तरह एक कानून का समर्थन प्राप्त हो?हिज़्बुल्ला के महासचिव ने जोर देकर कहा इस तरह के अपमानजनक कदमों को बंद करने के लिए कोशिश करनी चाहिए और शैतानी आयात नामक किताब के लेखक "सलमान रशदी" के खिलाफ इमाम खुमैनी रहमतुल्लाह का फ़त्वा ऐसी कार्यवाहियों का सिलसिला रोकने के लिए कोई कानून होना चाहिए।सय्यद हसन नस्रुल्लाह ने कहा: आसमानी धर्मों और नबियों के अपमान को रोकने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय कानून के लागू होने की जरूरत है।उन्होंने कहा अमेरिकी कांग्रेस जिसने इससे पहले होलोकास्ट का इंकार करने वालों के लिए कानून बनाया है अभी तक इस्लाम का अपमान करने वाले तत्वों के लिए कोई कानून नहीं बना सकी जो उसके दोहरे मापदंड को दर्शाता है।.......जारी


پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं