मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मुर्सी को फांसी की सज़ा सुनाने की प्रक्रिया शुरू

  • News Code : 690258
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

मिस्र की अदालत ने अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी और अन्य 105 लोगों को फांसी की सज़ा देने के लिए मुफ़्ती की राय मांगी है।

मिस्र की अदालत ने अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी और अन्य 105 लोगों को फांसी की सज़ा देने के लिए मुफ़्ती की राय मांगी है।
क़ाहेरा से प्राप्त सूचना के अनुसार जेलों पर हमलों के मामले में अदालत ने यह क़दम उठाया है। यह पहला अवसर है जब मिस्र में किसी राष्ट्रपति की फांसी की सज़ा के बारे में मुफ़्ती की राय मांगी गई है। मिस्र के सरकारी टीवी से प्रसारित होने वाली कार्यवाही में अदालत ने फ़ैसला सुनाया कि मोहम्मद मुर्सी और अन्य 105 लोगों को फांसी की सज़ा देने के लिए सरकारी मुफ़्ती की राय पूछी जा रही है और 2 जून को इस मामले में अंतिम फ़ैसला सुनाया जाएगा। मिस्री क़ानून के अनुसार मुफ़्ती की राय लेना फांसी की सज़ा सुनाने की भूमिका है और मुफ़्ती की राय की हैसियत परामर्श की होती है अतः अदालत उसे स्वीकार करने पर बाध्य नहीं है। फ़िलिस्तीन के हमास आंदोलन ने मिस्री अदालत के इस क़दम को खेदजनक बताया है। हमास के प्रवक्ता सामी अबू ज़ोहरी ने कहा कि यह फ़ैसला मिस्री न्यायपालिक के इतिहास में बहुत बुरा अध्याय है। ज्ञात रहे कि वर्ष 2011 में हुस्नी मुबारक की सत्ता का अंत कर देने वाली क्रान्ति के दौरान जेलों पर हमले हुए थे जिनमें 131 आरोपियों पर मुक़द्दमा चलाया जा रहा था। इस हमले में कई पुलिस अधिकारियों को बंधक बना लिया गया था।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
We are All Zakzaky