सऊदी अरब हमेशा इस्राईल का दोस्त रहा है।

  • News Code : 770408
  • Source : मेह्र न्यूज
Brief

ऊदी अरब हमेशा इस्राईल का दोस्त रहा है और उसने अमेरिका के साथ मिलकर हमेशा इस्राईल के हितों की रक्षा की है।

अहलेबैत समाचार एजेंसी अबनाः प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार अरब अखबार अलसफ़ीर के विश्लेषक अब्दुल्लाह ज़गीब ने सऊदी अरब और इस्राईल के बीच बढ़ते सम्बंधों की ओर इशारा करते हुए लिखा है कि सऊदी अरब हमेशा इस्राईल का दोस्त रहा है और उसने अमेरिका के साथ मिलकर हमेशा इस्राईल के हितों की रक्षा की है। अब्दुल्लाह के अनुसार सऊदी अरब ने फिलिस्तीन पर इस्राईल के वर्चस्व से लेकर आज तक कभी भी इस्राईल के खिलाफ कोई ठोस और गंभीर कदम नहीं उठाया और यहां तक फिलिस्तीनियों पर हुए इस्राईली अत्याचार की कभी निंदा तक नहीं की।
अरब विश्लेषक के अनुसार सऊदी अरब ने हमेशा इस क्षेत्र में अमेरिका और इस्राईल के विरोधियों के खिलाफ कार्रवाई की हैं लेकिन उसने कभी भी अमेरिका और इस्राईल के विरूद्ध आवाज तक नहीं उठाई बल्कि सऊदी अरब, अमेरिका और इस्राईल का क्षेत्र में महत्वपूर्ण सहयोगी देश है जो इस्लाम और मक्का मदीना की आड़ में इस्लाम और मुसलमानों की पीठ में खंजर भोंक रहा है और अवैध जायोनी सरकार और अमेरिका के हितों की रक्षा कर रहा है।
अलसफीर के विश्लेषक के अनुसार सऊदी अरब ने अमेरिका और इस्राईल की नियाबत में क्षेत्रीय देशों के विरूद्ध जंग भी शुरू कर रखी है और अब उसने इस्राईल से खुफिया सम्बंध के बजाए खुल्लम खुल्ला सम्बंध बनाने पर कमर कस ली है लेकिन सऊदी अरब को यमन, इराक़ और सीरिया में कड़वी और ऐतिहासिक असफलताओं का सामना करना पड़ा है। सऊदी अरब ईरान को बहाना बनाकर इस्राईल से खुल्लम खुल्ला सम्बंध बना रहा है। हालांकि अमेरिका, इस्राईल और सऊदी अरब तीन शैतानी धुरी हैं जो इस्लाम और मुसलमानों के असली और बुनियादी दुश्मन हैं। इस्लामी सूत्रों के अनुसार सऊदी अरब, अबू जहेल, अबू लहेब, अबू सुफ़ियान, मुआविया और यज़ीद की चरित्र पर चल रहा है और सऊदी अरब इस दौर के सबसे बड़े यज़ीद और सबसे बड़े शैतान अमेरिका का महत्वपूर्ण सहयोगी और समर्थक है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं