?>

5 वर्षों में 6 लाख से अधिक लोगों ने छोड़ दी भारतीय नागरिकता

5 वर्षों में 6 लाख से अधिक लोगों ने छोड़ दी भारतीय नागरिकता

छह लाख से अधिक भारतीय नागरिकों ने भारतीय नागरिकता छोड़ दी।

पांच वर्षों के अंदर भारत की नागरिकता छोड़ने वालों की संख्या छह लाख से भी अधिक हो गई है।

भारतीय संचार माध्यमों के अनुसार भारत के केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री ने मंगलवार को लोकसभा में यह जानकारी दी है। नित्यानंद राय ने बताया कि पिछले पांच वर्षों के दौरान 6 लाख से अधिक भारतीयों ने भारत की नागरिकता त्याग दी।

उन्होंने बताया कि जिस दौरान छह लाख से अधिक लोगों ने भारतीय नागरिकता छोड़ी उसी दौरान 4177 लोगों को भारत की नागरिका दी गई।

एक प्रशन के लिखित उत्तर में भारत के केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने वर्ष के हिसाब से नागरिकता छोड़ने वालों का ब्योरा देते हुए बताया है कि सन 2017 में 1,33,049 लोगों ने भारत की नागरिकता त्याग दी।

उन्होंने कहा कि सन 2018 में 1,34,561 ने, सन 2019 में 1,44,017 ने, 2020 में 85,248 ने और 30 सितंबर 2021 तक 1,11,287 लोगों ने भारत की नागरिकता छोड़ दी।  भारत के केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने यह भी बताया कि राष्ट्रव्यापी एनआरसी को लेकर अबतक कोई फैसला नहीं हुआ है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*