सत्य की असत्य पर जीत।

सत्य की असत्य पर जीत।

हक़ (सत्य) चाहे कम ही क्यूं न हो बातिल (असत्य) को पराजित कर देता है जिस तरह लकड़ी


अबनाः قَليلُ الْحَقِّ يَدْفَعُ كَثيرَ الباطِلِ كَما اَنَّ الْقَليلَ مِنَ النّارِ يُحْرِقُ كَثيرَ الْحَطَبِ؛
अमीरूल मोमेनीन हज़रत अली अ. फ़रमाते हैंः हक़ (सत्य) चाहे कम ही क्यूं न हो बातिल (असत्य) को पराजित कर देता है जिस तरह लकड़ी चाहे जितनी भी ज़्यादा ही क्यूं न हो थोड़ी सी आग उसे जला देती है।



अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky