उलमा की अहमियत।

उलमा की अहमियत।

अमीरूल मोमेनीन हज़रत अली अ. ने फ़रमायाः

अबनाःالعلماء باقون ما بقي الليل و النهار.
अमीरूल मोमेनीन हज़रत अली अ. ने फ़रमायाः
जब तक दिन व रात हैं तब तक उलमा भी बाक़ी रहेंगे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

قدس راه شهداء
*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky