?>

हक़ीक़त छुप नहीं सकती बनावट के उसूलों से, अमरीकी मीडिया ने माना, अमरीकी छावनी पर अब तक का सबसे बड़ा हमला किया ईरान ने...

हक़ीक़त छुप नहीं सकती बनावट के उसूलों से, अमरीकी मीडिया ने माना, अमरीकी छावनी पर अब तक का सबसे बड़ा हमला किया ईरान ने...

अमरीकी मीडिया सूत्रों ने इराक़ में अमरीकी आतंकवादी सैनिकों की सबसे बड़ी छावनी एनुल असद पर ईरान के मीज़ाइल हमले के संबंध में और भी सच्चाई से पर्दा उठाया है।

अमरीकी न्यूज़ चैनल सीबीएस की वेब साइट के अनुसार एनुल असद छावनी पर ईरान की आईआरजीसी के मीज़ाइल हमलों के बाद अमरीकी सेना पर इस हमले को छोटा करके पेश करने के लिए दबाव डाला गया था।

सीबीएस चैनल की वेबसाइट का कहना है कि ईरान ने जवाबी और इंतेक़ामी कार्यवाही करते हुए जो हमला इराक़ में अमरीकी सैनिकों की छावनी पर किया वह इतिहास में अमरीकी सैनिकों पर होने वाला सबसे बड़ा हमला था। उक्त वेबसाइट ने लिखा कि ईरान ने एनुल असद पर 1600 पाउंड वज़नी वारहेड के अपने ग्यारह मीज़ाइलों से हमला करके उसे मिट्टी में मिला दिया।

इससे पहले अमरीकी आतंकवाद के क्षेत्रीय केन्द्र सेन्टकाम के हेडक्यवाटर ने कहा था कि अगर छावनी को ख़ाली न किया जाता तो कम से कम 20 से 30 युद्धक विमानों और 100 से 150 सैनिकों से उन्हें हाथ धोना पड़ता।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*