?>

सेर को मिला सवासेर, अब तालेबान हुआ विवश अहमद मसूद के साथ वार्ता के लिए

सेर को मिला सवासेर, अब तालेबान हुआ विवश अहमद मसूद के साथ वार्ता के लिए

अफ़ग़ानिस्तान की पंजशीर घाटी में तालेबान ने वहां के विख्यात नेता अहमद मसूद से भेंटवार्ता की है।

काबुल से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार तालेबान गुट के एक प्रतिनिधिमण्डल ने पंजशीर में अहमद मसूद से मुलाक़ात की।

इस भेंटवार्ता में कई मुद्दों पर विचार-विमर्श किया गया।  कुछ सूत्रों ने इसमें अफ़ग़ानिस्तान के भूतपूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई की उपस्थिति की भी सूचना दी है।  इस भेंटवार्ता के बारे में अभी तक कोई स्पष्ट जानकारी प्राप्त नहीं हो सकी है।

तालेबान ने जबसे पंजशीर घाटी में अपने लड़ाके भेजे हैं, वहां के प्रमुख कमांडर अहमद मसूद ने कहा है कि पंजशीर को हम कभी भी तालेबान के हवाले नहीं करेंगे।  तालेबान का प्रतिनिधिमण्डल एसी स्थिति में पंजशीर घाटी पहुंचा है कि जब अहमद मसूद पहले से ही कह चुके हैं कि वे वार्ता में विश्वास रखते हैं।

हालिया दिनों पर तालेबान द्वारा काबुल सहित अफ़ग़ानिस्तान के अधिकांश क्षेत्रों पर क़ब्ज़ा किये जाने के बाद तालेबान इस बात का दिखावा कर रहे हैं कि वे ज़ोर-ज़बरदस्ती में नहीं बल्कि शांति में विश्वास रखते हैं।

तालेबान ने अहमद मसूद से हथियार उनके हवाले करने और बिना किसी हिंसा के पंजशीर का नियंत्रण अपने हवाले करने की मांग की है।  हालात के हिसाब से एसा नहीं लगता कि अहमद मसूद, तालेबान की इन मांगों को स्वीकार करेंगे।

ज्ञात रहे कि तालेबान ने जबसे इस बार काबुल पर क़ब्ज़ा किया है उसके बाद से वे अपनी छवि सुधारने में लगे हुए हैं।  तालेबान चाहते हैं कि उनको अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हिंसा विरोधी गुट के रूप में पहचाना जाए और विश्व समुदाय उनको मान्यता देदे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*