?>

सुन्नी जवानों ने दिखाई दरियादिली, शिया घायल नमाज़ियों को दिया ख़ून

सुन्नी जवानों ने दिखाई दरियादिली, शिया घायल नमाज़ियों को दिया ख़ून

कल शुक्रवार को अफ़ग़ानिस्तान के क़ुन्दूज़ प्रांत में, जो शिया मस्जिद में आत्मघाती बम विस्फोट हुआ था और उस विस्फोट में आधिकारिक तौर पर 50 नमाज़ी शहीद और 143 घायल हुए थे, सुन्नी जवानों ने उन घायलों को खून दिया है जिन्हें खून की ज़रूरत थी।

समाचार एजेन्सी आवा ने घायल और शहीद होने वालों के परिजनों के हवाले से बताया है कि सुन्नी मुसलमानों ने क़ुन्दूज़ प्रांत की सैयदाबाद मस्जिद में होने वाले आत्मघाती हमले में पीड़ित शिया परिवारों से सहानुभूति जताई और उन्हें अस्पताल स्थानांतरित करने में मदद करने के अलावा खून भी दिया।

क़ुन्दूज़ की मस्जिद में जिन शिया मुसलमानों के घरवाले घायल थे उन्होंने बताया है कि घायल होने वालों की मदद के लिए इतनी अधिक संख्या में सुन्नी मुसलमान चिकित्सा केन्द्रों के सामने एकत्रित थे कि अस्पताल और चिकित्सा केन्द्रों के स्टाफ़ वालों ने जमा होने वालों को इस बात का आश्वासन दिलाया कि ज़रूरत पड़ने पर सूचित करके उनसे खून लिया जायेगा तब वे अपने अपने घरों को वापस गये।

इन परिजनों ने कहा कि इस्लाम के दुश्मन इस्लामी संप्रदायों के मध्य फूट डालने की चेष्टा में हैं परंतु उन्हें जान लेना चाहिये कि वे कभी भी अपने षडयंत्रों में सफल नहीं होंगे।

जानकार हल्कों का मानना है कि सुन्नी मुसलमानों ने जिस तरह शिया मुसलमानों की मदद की अगर इसी तरह मुसलमानों के दूसरे संप्रदाय के लोग एक दूसरे की मदद करें तो मुसलमानों के दुश्मनों के षडयंत्रों को विफल बनाने में उल्लेखनीय मदद लेगी। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*