क्या सीरिया में होगा महाशक्तियों का टकराव? एक हफ्ते में 13 रूसी युद्धपोत सीरिया पहुंचे...

क्या सीरिया में होगा महाशक्तियों का टकराव? एक हफ्ते में 13 रूसी युद्धपोत सीरिया पहुंचे...

इस्राईली समाचार पत्र हारित्ज़ ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया है कि पिछले एक हफ्ते के दौरान रूस के 13 युद्धपोत भूमध्य सागर और सीरिया पहुंचे हैं।

रोयटर्ज़ न्यूज़ एजेन्सी और इस्राईली समाचार पत्र हारित्ज़ के अनुसार सीरिया पर अमरीका , ब्रिटेन और फ्रांस की ओर से हमले की तैयारी की खबरों के मध्य रूस सीरिया के निकट समुद्र में अपने युद्धपोत तैनात कर रहा है।

याद रहे रूसी रक्षा मंत्रालय ने गत दो दिनों के दौरान बार बार यह एलान किया है कि अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस सीरिया द्वारा रासायनिक शस्त्रों के इस्तेमाल का बहाना बना कर इस देश पर हमले की तैयारी कर रहे हैं। े बताया है कि पिछले एक हफ्ते के दौरान रूस के 13 युद्धपोत भूमध्य सागर औज्ञ सी ममलूक ने कहा कि हम यहां सीरिया में हैं जो चाहे आकर

  रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता, इगोर कोनाश्कोफ ने रविवार को भी अपने एक बयान में बताया कि आतंकवादी सीरिया के एदलिब प्रान्त में रासायनिक हमला करनी योजना तैयार कर रहे हैं।

उन्होंने बताया है कि रूस को प्राप्त सूचनाओं  से पता चलता है कि अग्रेज़ी जानने वाले विशेषज्ञों का एक गुट आतंकवादियों को क्लोरीन युक्त हथियारों के इस्तेमाल की ट्रेनिंग देने के लिए एदलिब गया है।

रूसी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादी, कफर ज़ीता नामक क्षेत्र पर रासायनिक हमला करना चाह रहे हैं जो एदलिब प्रान्त के हबीत नगर से छे किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम यह है कि रासायनिक हमले का ड्रामा करने के बाद वाइट हैट के कार्यकर्ता, इस क्षेत्र का वीडियो क्लिप तैयार करें ताकि उसे मीडिया में प्रसारित किया जा सके।

रूस के 13 युद्धपोतों की रवानगी के लअवा यह भी खबर है कि रूसी नौसेना ने अपनी सब से बड़ी टास्क फोर्स को सीरिया तक तटों पर भेज दिया है।

 रूसी समाचार पत्र एज़ोस्तिया ने अपनी एक रिपोर्ट में लिखा है कि जिस तरह से रूस, मूमध्य सागर में सीरियाई तटों पर अपनी सैनिक उपस्थिति मज़बूत कर रहा है उसका उदाहरण अतीत में नहीं मिलता।

      इस समाचारपत्र की रिपोर्ट के अनुसार इस समय भूमध्य सागर में सीरिया के तट के निकट तैनात रूसी नौसेना की यूनिट में कैलीबर क्रूज़ मिसाइलों से लैस 10 से अधिक युद्धपोत और 2 आधुनिक पनडुब्बियां हैं।

     रूसी रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने इस समाचार पत्र को बताया है कि वर्तमान समय में उत्तरी सागर, बाल्टिक सागर, काला सागर और इसी प्रकार कैस्पियन सागर में तैनात रूसी नौसेना की अधिकांश इकाइयों को भमध्य सागर पहुंचा दिया गया है।

 रूस ने कहा है कि वह सीरिया में रासायनिक हमले सहित हर प्रकार की भड़काऊ कार्यवाही और अमरीका तथा पश्चिमी देशों की ओर से संभावित सैन्य कार्यवाही को रोकने के लिए पूरी शक्ति लगा देगा।

     पश्चिमी मीडिया ने मूमध्य सागर में अमरीका की सैन्य उपस्थिति में वृद्धि की रिपोर्टों का खंडन किया है किंतु रूसी सूत्रों ने बताया है कि अमरीका भमध्य सागर में अपनी सैनिक उपस्थिति बढ़ा रहा है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं