?>

सीरिया, संसदीय चुनाव को मानने से किया अमरीका ने इनकार, जनता की थी भरपूर भागीदारी

सीरिया, संसदीय चुनाव को मानने से किया अमरीका ने इनकार, जनता की थी भरपूर भागीदारी

अमरीकी विदेशमंत्रालय की प्रवक्ता ने हस्तक्षेपपूर्ण बयान देते हुए सीरिया में होने वाले संसदीय चुनाव को संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रस्तावों के विरुद्ध क़रार दिया है।

अमरीकी विदेशमंत्रालय की प्रवक्ता मोरगन ओवरटैग्स ने अपने एक बयान में दावा किया है कि संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रस्ताव 2254 के अंतर्गत सीरिया में चुनाव संयुक्त राष्ट्र संघ की निगरानी में स्वतंत्रतापूर्ण और न्यायपूर्ण ढंग से कराए जाने की आवश्यकता है और उस में समस्त सीरियाई नागरिकों को शामिल होने की अनुमति होनी चाहिए।

मोरगन ओवरटैग्स ने दावा किया कि सीरिया में होने वाले चुनाव, उनके कथनानुसार न्यायपूर्ण नहीं हैं। वाशिंग्टन और अरब तथा पश्चिमी घटकों की समस्त रुकावटों के बावजूद सीरिया के नये संविधान के अंतर्गत तीसरे संसदीय चुनाव रविवार को कराए गये थे जिनमें सीरिया की जनता ने भरपूर ढंग से भाग लिया।

रिपोर्ट के अनुसार सीरिया के संसदीय चुनाव में 250 सीटों के लिए 1656 प्रत्याशी मैदान में थे जिनमें 2 महिलाएं भी शामिल हैं। सीरियाई चुनाव आयोग के प्रमुख का कहना है कि समस्त 7 हज़ार 277 मतदान केन्द्रों में चुनाव पूर्ण रूप से पारदर्शी और न्यायपूर्ण ढंग से आयोजित हुए और किसी भी मतदान केन्द्र में धांधली की शिकायत प्राप्त नहीं हुई।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*