?>

सीरिया संकट का समाधान सैन्य मार्ग से संभव ही नहींः सीरिया शांति घोषणापत्र

सीरिया संकट का समाधान सैन्य मार्ग से संभव ही नहींः सीरिया शांति घोषणापत्र

सीरिया शांति वार्ता क़ज़्ज़ाक़िस्तान की राजधानी नूर सुल्तान में बुधवार को संपन्न हुई।

ईरान, रूस और तुर्की के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में एक संयुक्त घोषणापत्र जारी करके सीरिया की शांतिवार्ता बुधवार को संपन्न हुई।

इस संयुक्त घोषणापत्र में सीरिया की संप्रभुता के सम्मान पर बल देने के साथ ही इस बारे में राष्ट्रसंघ के नियमों पर पालन करने को भी कहा गया है। इस बयान में सीरिया के तेल की आय को रोकने के विरोध के साथ ही इस बात पर बल दिया गया है कि सीरिया संकट का समाधान सैन्य मार्ग से संभव नहीं है।  ईरान, रूस और तुर्की ने इस संयुक्त बयान में सीरिया पर अवैध ज़ायोनी शासन के हमलों को अन्तर्राष्ट्रीय नियमों के विरुद्ध बताया है।  बयान में सीरिया के इदलिब नगर में संघर्ष विराम के साथ ही दाइश और नुस्रा फ्रंट जैसे आतंकवादी गुटों की समाप्ति पर भी बल दिया गया है।

संयुक्त बयान में क़ज़्ज़ाक़िस्तान की राजधानी नूर सुल्तान में सीरिया में शांति के बारे में वार्ता संपन्न हुई।  इसमें सीरिया के बारे में शांति वार्ता को क़ज़्ज़ाक़िस्तान की राजधानी नूर सुल्तान में आयोजित कराने के लिए उसका आभार व्यक्त किया गया है। सीरिया में शांति के बारे में वार्ता संपन्न हुई।  क़ज़्ज़ाक़िस्तान के विदेश मंत्रालय ने इस बैठक को लाभदायक बताया है।  इसकी अगली बैठक मार्च 2020 में क़ज़्ज़ाक़िस्तान की राजधानी नूर सुल्तान में ही आयोजित होगी। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*