?>

सीरिया में ईरान के सैन्य ठिकानों को निशाना बनाएगा अमेरिका ?

सीरिया में ईरान के सैन्य ठिकानों को निशाना बनाएगा अमेरिका ?

आज जब मिडिल ईस्ट में अमेरिका के थानेदार की भूमिका निभाने वाला इस्राईल चारों ओर से प्रतिरोधी मोर्चे से घिरा हुआ है और जिस की सुरक्षा अमेरिका की विदेश नीति में सर्वप्रथम है इस बात की संभावना कम ही है कि ट्रम्प ईरान के खिलाफ ऐसा कोई क़दम उठाने की भूल करें ।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार आतंकवादी संगठनों के प्रिय और ट्रम्प के वरिष्ठ सलाहकार जॉन बोल्टन और उनकी टीम ट्रम्प को इस बात एक लिए राज़ी करने में जी जान से जुटी हुई है की वह सीरिया में ईरान के सैन्य हितों को निशाना बनाते हुए ईरान के सैन्य सलाहकारों के ठिकानों पर बमबारी करे । क्या ट्रम्प अपनी टीम के उकसावे में आकर ऐसा कोई क़दम उठाते हैं तो इसकी संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता लेकिन ट्रम्प एक मंझे हुए बिज़नेस मैन हैं वह अपने हित और नुकसान को देखकर ही कोई क़दम उठाएंगे । आज जब मिडिल ईस्ट में अमेरिका के थानेदार की भूमिका निभाने वाला इस्राईल चारों ओर से प्रतिरोधी मोर्चे से घिरा हुआ है और जिस की सुरक्षा अमेरिका की विदेश नीति में सर्वप्रथम है इस बात की संभावना कम ही है कि ट्रम्प ईरान के खिलाफ ऐसा कोई क़दम उठाने की भूल करें । ऐसा प्रतीत होता है कि सीरिया में ईरान के ठिकानों को निशाना बनाने कि न्यूयॉर्कर की रिपोर्ट उस मनोवैज्ञानिक युद्ध का भाग है जो ईरान के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों के नाकारा होने के बाद अमेरिकी ख़ेमे की ओर से शुरू की गई है ।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*