?>

सीरिया में अमरीकी हवाई हमले से बाइडन प्रशासन ने क्या संदेश देने का प्रयास किया है?

सीरिया में अमरीकी हवाई हमले से बाइडन प्रशासन ने क्या संदेश देने का प्रयास किया है?

सीरिया में अमरीका के हवाई हमले से सिर्फ़ वही शख़्स हैरान होगा, जो यह मानकर चल रहा होगा कि वाशिंगटन में अब वैश्विक साम्राज्य के लिए प्रतिबद्ध शासन के बजाए एक संवैधानिक गणतंत्र का शासन है।

डेमोक्रेट्स का यह पसंदीदा दावा है कि कोई भी व्यक्ति समय को वापस नहीं लौटा सकता है।  अभी तक जो बाइडन प्रशासन के बारे में बस इतना ही कुछ कहा गया है कि वह डोनल्ड ट्रम्प के पिछले चार वर्षों को मिटा देना चाहता है और शुरूआत वहीं से करना चाहता है, जहां से बराक ओबामा ने छोड़ा था।

आपको याद होगा कि ट्रम्प ने भी सीरिया पर बमबारी की थी। तथाकथित रासायनिक हमले के बाद ट्रम्प प्रशासन ने दो मौक़ों पर क्रूज़ मिसाइलों से हमला किया था, इसी तरह से एक साल पहले इराक़ी स्वयं सेवी बल के ठिकानों को निशाना बनाया था और बग़दाद एयरपोर्ट के निकट ईरान के कमांडर जनरल क़ासिम सुलेमानी की ड्रोन हमले में हत्या का आदेश दिया था।

उस वक़्त बाइडन समेत कांग्रेंस में डेमोक्रेट्स और क़रीब अमरीका के सभी संचार माध्यमों ने इसकी निंदा की थी, लेकिन अब वही सब बाइडन प्रशासन की बमबारी की प्रशंसा कर रहे हैं।

ट्रम्प के इन अपराधों को अमरीकी स्टैब्लिशमैंट ने अस्वीकार कर दिया था, जबकि पिछले हफ़्ते ही बाइडन ने कहा था कि अमेरिका इज़ बैक, और तथाकथित लोकतंत्र की ओर से धर्मयुद्ध का वादा किया था।

ट्रम्प ने जब किसी पर बमबारी का अपराध किया तो इसके बारे में ट्वीट करके जानकारी दी, लेकिन नया प्रशासन बहुत ही चालाकी से तरह काम करता है। पहले वह मीडिया में कुछ बिंदू लीक करता है। ट्रम्प की "काउबॉय" भाषा के बजाय, बाइडन के अधिकारी सावधानीपूर्वक चयनित प्रचार शब्दों का इस्तेमाल करते हैं, जैसे कि "रक्षात्मक सटीक हमले" और स्थिति को डी-इस्केलेट करने के लिए "सैन्य प्रतिक्रिया"। मीडिया पूरी तरह से सभी का अनुपालन करता है।

इस तरह के प्रबंधन से अमरीकियों के लिए युद्ध को बहुत ही सामान्य सी बात बना दिया जाएगा। उसके बाद जो व्यवहार अपराध, अनैतिक और अस्वीकार्य होना चाहिए था, वह बहुत ही सामान्य सी बात बन जाएगा, जो एक भयानक प्रक्रिया है। इस स्थिति में कोई इस बात की परवाह भी नहीं करेगा कि सीरिया में अमरीका को बमबारी और हमलों का कोई क़ानूनी अधिकार है भी या नहीं।

बाइडन प्रशासन की नीतियों पर गहरी नज़र रखने वाला कोई भी शख़्स, यह भविष्य कर सकता है कि बाइडन प्रशासन सीरिया के राष्ट्रपति बशार असद को किसी भी क़ीमत पर सत्ता से हटाना चाहेगा, चाहे उसके परिणाम कुछ भी हों।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*