?>

सऊदी अरब में फिर बढ़ा सत्ता के लिए टकराव, सलमान फिर भिड़े नाएफ़ से

सऊदी अरब में फिर बढ़ा सत्ता के लिए टकराव, सलमान फिर भिड़े नाएफ़ से

सऊदी अरब के वर्तमान और पूर्व युवराजों के बीच फिर तनाव बढ़ता ही जा रहा है।

सऊदी संचार माध्यमों के अनुसार इस देश में बंदी बनाकर रखे गए पूर्व युवराज मुहम्मद बिन नाएफ़ के कई समर्थकों को गिरफ़्तार किया गया है।

सऊदी अरब में शहज़ादों की गिरफ़्तारियों के बारे में ख़बर देने वाले "मोतक़ेली अर्राए" ने ट्वीट किया है कि देश के सुरक्षाबलों ने सऊदी अरब के पूर्व युवराज नाएफ़ के उन समर्थकों को गिरफ़्तार किया जो सोशल मीडिया पर अधिक सक्रिय थे।  रिपोर्ट में बताया गया है कि कुछ लोगों को तो केवल इसलिए गिरफ़्तार किया गया क्योंकि उनका कोई फोटो मुहम्मद बिन नाएफ के साथ था।

मुहम्मद बिन नाएफ़ जनवरी सन 2015 से जनवरी 2017 तक सऊदी अरब के युवराज रह चुके हैं।  बाद में मुहम्मद बिन सलमान के आदेश पर उनको उनके पद से हटा दिया गया।  5 मार्च 2020 को मुहम्मद बिना नाएफ़ और उनके चाचा अहमद बिन अब्दुल अज़ीज़ को विश्वासघात के आरोप में गिरफ़्तार करके जेल में डाल दिया गया।  उस समय से वे अबतक जेल में हैं।

कुछ समय पहले टाइम्स समाचारपत्र ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया था कि बिन नाएफ़ को इतना अधिक टार्चर किया गया है कि वे अब बिना किसी सहारे के चल नहीं सकते।  इस बीच उनका 36 किलो वज़न ही कम हुआ है।

गार्डियन ने अभी हाल ही में लिखा था कि जबसे मुहम्मद बिन सलमान सऊदी अरब के युवराज बने हैं उस समय से यह सिलसिला चल निकला है कि उनके हर विरोधी का बुरी तरह से दमन किया जाता है चाहे वह कोई भी हो।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*