?>

विदा हो गए या बने रहे ट्रम्प ने अमरीका को वह नुक़सान पहुंचा दिया है जिसकी भरपाई बेहद कठिनः वाशिंग्टन पोस्ट

विदा हो गए या बने रहे ट्रम्प ने अमरीका को वह नुक़सान पहुंचा दिया है जिसकी भरपाई बेहद कठिनः वाशिंग्टन पोस्ट

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे आ रहे हैं और डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन जीत के क़रीब जाते दिखाई दे रहे हैं जबकि ट्रम्प ने वोटों की गिनती को लेकर संदेह जताया है और अदालत जाने की बात कही है।

इस बीच अमरीकी अख़बार वाशिंग्टन पोस्ट में प्रकाशित होने वाले अपने लेख में वरिष्ठ टीकाकार कोलबर्ट किंग ने ट्रम्प के चार साल के शासनकाल का मूल्यांकन करते हुए लिखा है कि ट्रम्प ने वाइट हाउस में बिताए गए अपने दिनों में अमरीका को बहुत ज़्यादा नुक़सान पहुंचा दिया जिसकी भरपाई करने के लिए नए राष्ट्रपति और कांग्रेस को बहुत ज़्यादा मेहनत करनी पड़ेगी।

किंग ने अपने लेख में लिखा कि इस समय सारे अमरीकी कड़वाहट का एहसास कर रहे हैं। ट्रम्प ने पहले दिन से देश को अपनी मुट्ठी में जकड़ने की कोशिश की। यह काम जार्ज वाशिंग्टन और रोज़वेल्ट से लेकर जार्ज बुश, क्लिंटन और ओबामा तक किसी ने नहीं किया था। ट्रम्प ने दरअस्ल विध्वंस की गाड़ी तेज़ रफ़तार से दौड़ा दी। ट्रम्प ने अमरीकी नागरिकों को एक दूसरे पर टूट पड़ने के लिए उकसाया। यह सारी इतनी गंभीर समस्याएं हैं और इतने गहरे घाव हैं जिन्हें केवल चुनाव के नतीजों से भरना संभव नहीं है।

ट्रम्प के व्यक्तित्व की ख़ामियां और उनका घृणात्मक रवैया राष्ट्रपति पद पर आसीन होने के बाद भी जारी रहा। यह इस बात का सुबूत भी था कि अमरीकियों की एक बड़ी संख्या इसी प्रकार के घटिया रवैए को पसंद करती है इसीलिए उसने ट्रम्प को चुना।

इसलिए इस बार के चुनावों का जो भी नतीजा हो ट्रम्प ने जो विरासत तैयार कर दी है वह आसानी से ख़त्म होने वाली नहीं है। ट्रम्प मेरे लिए, मेरे देश के लिए और सारी जनता के लिए कलंक का टीका हैं।

ट्रम्प वाइट हाउस में रहें या वहां से बोरिया बिस्तर समेट लें दोनों ही स्थिति में वह अमरीका के लिए ख़तरा ही रहेंगे उन्हें अमरीका का लीडर बनने का कोई अधिकार नहीं है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*