ट्रम्प ने मंगलवार को ओमारोसा मैनीगोल्ट न्यूमैन पर ज़ोरदार हमला करते हुए उनके लिए अपशब्दों का प्रयोग किया है। न्यूमैन ने एक पुस्त

ट्रम्प ने मंगलवार को ओमारोसा मैनीगोल्ट न्यूमैन पर ज़ोरदार हमला करते हुए उनके लिए अपशब्दों का प्रयोग किया है। न्यूमैन ने एक पुस्त

लेबनान के हिज़्बुल्लाह आंदोलन के प्रमुख सैयद हसन नसरुल्लाह ने सीरिया युद्ध की ओर इशारा करते हुए कहा कि जो कुछ सात साल से चल रहा है वह वास्तव में यह भी लेबनान के ख़िलाफ़ इस्राईल के युद्ध जैसा दूसरा युद्ध है और दोनों के लक्ष्य समान हैं।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि वर्ष 2006 में लेबनान पर इस्राईली हमले में लेबनान को मिलने वाली विजय संयुक्त राष्ट्र संघ और अरब लीग तथा अन्य संस्थाओं की मदद से नहीं मिली थी बल्कि ईश्वर की कृपा औज्ञ लेबनान की जनता के प्रतिरोध के नतीजे में मिली थी।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि इस समय हिज्बुल्लाह इस्राईल से अधिक शक्तिशाल है और यह आंदोलन बहुत जल्द सीरिया में मिलने वाली विजय का जश्न मनाएगा।

वर्ष 2006 के युद्ध में लेबनान को मिलने वाली विजय की वर्षगांठ के अवसर पर भाषण देते हुए सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि वर्ष 2006 का युद्ध इलाक़े पर अमरीकियों का वर्चस्व स्थापित करने के उद्देश्य से लड़ा गया और चूंकि युद्ध में हमलावरों को पराजय हुई इसलिए यह योजना नाकाम हो गई।

सैयद हस नसरुल्लाह ने कहा कि हम लेबनान युद्ध में जीते, हमें ग़ज़्ज़ा युद्ध में विजय मिली और ईरान तथा सीरिया अपनी जगह डटे तो इसके नतीजे में अमरीका की पूरी योजना फ़ेल हो गई।

हिज़्बुल्लाह के प्रमुख ने कहा कि युद्ध में लेबनान के प्रतिरोध ने बहुत गहरे बदलाव किए जिससे प्रतिरोध मोर्चे को और मज़बूती मिली। उन्होंने कहा कि इस युद्ध के बाद इस इलाक़े को युद्ध में झोंक दिया गया ताकि अधूरे लक्ष्यों को पूरा किया जाए और इस्राईल को पूरे इलाक़े पर थोप दिया जाए।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि हिज़्बुल्लाह आंदोलन के पास जितनी शाक्ति आज है उतनी शक्ति कभी नहीं रही। उन्होंने कहा कि इस्राईल वर्ष 2007 से युद्ध की बात कर रहा है लेकिन साथ ही साथ यह भी कह रहा है कि हिज़्बुल्लाह की शक्ति बढ़ गई है।

हिज़्बुल्लाह के प्रमुख ने कहा कि सीरिया युद्ध में इस्राईल की भूमिका रही उसने आतंकियों की मदद की। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि इस्राईल ने सीरिया युद्ध से बड़ी उम्मीदें लगा रखी थीं कि सीरियाई सेना ध्वस्त हो जाएगी और सीरिया में एसी सरकार आएगी जो गोलान हाइट्स के इलाक़े के बारे में सीरिया का दावा ख़ात्म कर देगी।

ग़ज़्ज़ा की हालत के बारे में सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि इस्राईल और अमरीका को यह आशा थी कि युद्ध और घेराबंदी से ग़ज़्ज़ा की जनता घुटने टेक देगी मगर आज इस्राईल ग़ज़्ज़ा वासियों का प्रतिरोध और साहस देखकर हतप्रभ है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने डील आफ़ सेंचुरी के बारे में बोलते हुए कहा कि इस डील का उद्देश्य पूरा बैतुल मुक़द्दस इस्राईल को दे देना है और इसका सपना इस्राईल देख रहा है लेकिन डील आफ़ सेंचुरी की जो योजना ट्रम्प लाए हैं उसके सामने गंभीर चुनौतियां हैं और यह योजना पूरी तरह नाकाम हो जाएगी। उन्होंने कहा कि फ़िलिस्तीन के भीतर कोई भी अधिकारी और कोई भी संगठन एसा नहीं है जो डील आफ़ सेंचुरी पर हस्ताक्षर की ज़िम्मेदारी स्वीकार कर सके।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने मंगलवार को अपने इस भाषण में यमन के सअदा प्रांत के ज़हयान इलाक़े में बच्चों पर सऊदी गठबंधन की बमबारी का हवाला देते हुए कहा कि यमन के बच्चों का खून बहाना वास्तव में लेबनानी बच्चों का नरसंहार है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के नरसंहार पर उतारू हो जाने का मतलब यही है कि यमन युद्ध में सऊदी गठबंधन पूरी तरह विफल हो चुका है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि इस समय सऊदी अरब को अनेक देशों और संस्थाओं के साथ गंभीर टकराव का सामना है।

सैयद हसन नसरुल्लाह का कहना था कि इस समय सारी दुनिया में सऊदी अरब की यही छवि है कि उसने सीरिया में आतंकवादी भेजे, उसने यमन में नरसंहार किया और फ़िलिस्तीन से पल्ला झाड़ लिया है।

सैयद हसन नसरुल्लाह ने ईरान अमरीका तनाव के बारे में बोलते हुए कहा कि ईरान के ख़िलाफ़ लड़ाई आर्थिक है और इसका लक्ष्य देश के भीतर गडबड़ी फैलाना है इसलिए कि अमरीका और इस्राईल जानते हैं कि ईरान से प्रत्यक्ष रूप से सैनिक टकराव में उन्हें सफलता मिलने वाली नहीं है। सैयद हसन नसरुल्लाह ने कहा कि ईरान इस समय बहुत ताक़तवर है और इलाक़े में यह देश और वहां की व्यवस्था बहुत मज़बूत है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
We are All Zakzaky