?>

लाॅकडाउन का फ़ैसला बिना तैयारी के हैः पूर्व वित्तमंत्री

लाॅकडाउन का फ़ैसला बिना तैयारी के हैः पूर्व वित्तमंत्री

भारत में कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान मज़दूरों एवं ग़रीबों के अपने घरों के लिए पैदल निकलने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भारत के पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने सरकार की कार्यशैली की आलोचना की।

उन्होंने लॉकडउन को लेकर कहा कि सरकार ने बिना किसी तैयारी के यह फ़ैसला लिया। पी चिदंबरम ने पूछा है कि आखिर लॉकडाउन में अपने घरों की ओर लौट रहे प्रवासी मजदूरों को लेकर केंद्र और राज्य सरकारें क्या कर रही हैं? 

पी चिदंबरम ने शुक्रवार को ट्ववीट किया कि केंद्र और राज्य सरकारें उन प्रवासी श्रमिकों के बारे में क्या कर रही हैं, जिन्हें शहरों और क़स्बों को छोड़ने की अनुमति दी गई थी और जो अपने गांवों में वापस जाने का रास्ता तलाश रहे हैं?'

वहीं एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि भीड़-भाड़ वाली बसों या पैदल गांवों में वापस जाने से लॉकडाउन में काफ़ी गिरावट आई है। यह सरकारों की बिना तैयारी का एक और संकटपूर्ण उदाहरण है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*