?>

राष्ट्रपति रईसी की धमकी, पश्चिमी मीडिया में सुर्ख़ियां बन गयी, पूरे मीडिया में छाया बयान

राष्ट्रपति रईसी की धमकी, पश्चिमी मीडिया में सुर्ख़ियां बन गयी, पूरे मीडिया में छाया बयान

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति के बयान को दुनियाभर के मीडिया ने कवरेज दिया है।

राष्ट्रपति सैयद इब्राहीम रईसी के उस बयान को कि ईरान अपने दृष्टिकोण से एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगा, अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने करवेज दिया है।

लंदन से प्रकाशित होने वाले समाचार पत्र अशरक़ुल अवसत ने राष्ट्रपति रईसी के उस बयान कि जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरान बोर्ड आफ़ गवर्नज़ के प्रस्ताव के बाद अपने दृष्टिकोण से एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगा, कहा कि ईरान ने पहले वार्निंग दी थी कि अगर बोर्ड आफ़ गवर्नज़ में ईरान के विरुद्ध प्रस्ताव की मंज़ूरी हो जाएगी तो वह जवाबी कार्यवाही करेगा।

यूरो न्यूज़ ने ईरान के विरुद्ध प्रस्ताव के परिणामों का ब्योरा दिए बिना केवल आईएईए के निगरानी वाले कैमरों को बंद करने के इस्लामी गणतंत्र की कार्यवाही पर ध्यान केन्द्रित करते हुए आईएईए के डायरेक्टर जनरल रफ़ाएल ग्रोसी के हवाले से कहा कि इस कार्यवाही से परमाणु समझौते को एक विध्वंसक धचका लगेगा।

दुबई में अलअरबिया न्यूज़ चैनल ने इस प्रस्ताव की मंज़ूरी के हवाले से ईरानी राष्ट्रपति के बयान का वर्णन करते हुए कहा कि आईएईए के निदेशक मंडल की ओर से ईरान के विरुद्ध प्रस्ताव की मंज़ूरी के बाद राष्ट्रपति रईसी ने कहा कि ईरान अल्लाह की कृपा और महान ईरानी राष्ट्र के सहारे अपने दृष्टिकोण से एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगी।

फ़्री यूरोप रेडियो ने ईरानी राष्ट्रपति के रिमार्क्स को कवरेज दिया और आईएईए के सेफ़गार्ड से कैमरों को बंद करने की तेहरान की जवाबी कार्यवाही का उल्लेख करते हुए कहा कि ईरान ने देशभर में परमाणु स्थलों की निगरानी वाले कैमरे हटाकर अपने परमाणु कार्यक्रम की निगरानी के लिए आईएईए की क्षमताओं को सीमित कर दिया है।

मीडिया ने ग्रोसी के हवाले से कहा कि अगर तीन से चार सप्ताह के अंदर कैमरे वापस करने का कोई समझौता नहीं होता तो यह ईरान की अंतर्राष्ट्रीय शक्तियों के साथ परमाणु समझौते की बहाली की संभावनाओं के लिए एक विध्वंसक होगा।

ज्ञात रहे कि ईरान के राष्ट्रपति ने कहा था कि ईरान के ख़िलाफ आईएईए के बोर्ड ऑफ़ गवर्नर्स में प्रस्ताव पारित किया जाता है हालांकि हम ईश्वर की कृपा और अपने लोगों की मदद से अपने दृष्टिकोण से पीछे नहीं हटेंगे क्योंकि ईरान के ख़िलाफ अब तक पारित प्रस्तावों में से एक भी उपयोगी और प्रभावी नहीं रहे हैं। 

इस्लामी गणतंत्र ईरान के राष्ट्रपति सैयद इब्राहिम रईसी ने कहा था कि ईरान के ख़िलाफ अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी "आईएईए" के पारित प्रस्ताव के बावजूद, हम अपने दृष्टिकोण पर बाक़ी रहेंगे।

राष्ट्रपति सैयद रईसी ने कहा कि ईरान की वैज्ञानिक प्रगति को विफल बनाने के लिए अमरीका और इस्राईल, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) का उपयोग कर रहे हैं, हमने आईएईए के साथ पूरा सहयोग किया, लेकिन IAEA ने अमरीका और इस्राईल की खुशी के लिए ईरान के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया, जिसके माध्यम से वे अपने नाजायज़ लक्ष्यों को प्राप्त नहीं कर पाएंगे और ईरान अपने दृष्टिकोण से एक क़दम भी पीछे नहीं हटेगा। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*