?>

यमन पर हमला करने वालों को जान लेना चाहिए कि उनका खेल अब ख़त्मः हिज़बुल्लाह

यमन पर हमला करने वालों को जान लेना चाहिए कि उनका खेल अब ख़त्मः हिज़बुल्लाह

हिज़बुल्लाह का कहना है कि यमन की ताज़ा हालत बता रही है कि अमरीकी और सऊदी गठबंधन अब टूटने की कगार पर है।

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन हिज़बुल्लाह की कार्यकारी परिषद के प्रमुख ने कहा है कि यमन में अब सऊदी गठबंधन टूटने वाला है।

अली दामूश का कहना है कि यमन में यह गठबंधन टूट रहा है।  उन्होंने कहा कि वे लोग जिन्होंने सीरिया से पाठ नहीं सीखा और अब भी बहुत घमंड के साथ यमन पर हमले कर रहे हैं उनको जान लेना चाहिए कि तुम्हारा खेल अब ख़त्म है।  हिज़बुल्लाह के नेता ने यमन का मआरिब क्षेत्र अब अंसारुल्लाह के हाथों आज़ाद होने जा रहा है।

स्वयं अमरीका का यह कहना है कि जो भी मआरिब पर नियंत्रण करेगा उसी को यमन युद्ध में विजय हासिल होगी।  कल ही दक्षिणी मआरिब में स्थित वादिए ओबैदा नामक क़स्बे का अलफलज नामक स्ट्रैटेजिक क्षेत्र आज़ाद हो चुका है।

याद रहे कि इससे पहले यमनी सेना और अल-हौसी लड़ाकों ने तेल समृद्ध प्रांत मारिब में एक महत्वपूर्ण सैन्य अड्डे पर निंयत्रण कर लिया था।  स्थानीय सैन्य सूत्रों का कहना है कि यमनी सैनिकों और अलहौसी लड़ाकों ने मारिब के अल-जुबाह इलाक़े पर धावा बोल दिया और कई घंटों की भीषण लड़ाई के बाद उम्मेरीश सैन्य अड्डे पर निंयत्रण कर लिया।

यमन के तेल समृद्ध प्रांत मारिब में स्थित यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण सैन्य अड्डा था, जिसे सऊदी समर्थित लड़ाकों का सबसे अहम अंतिम गढ़ माना जा रहा था।  यमन युद्ध पर गहरी नज़र रखने वाले जानकारों का मानना है कि उम्मेरीश के पतन का मतलब है कि यमनी सैनिक और अल-हौसी लड़ाके अब सफ़र इलाक़े की ओर तेज़ी से बढ़ सकते हैं, जहां मारिब प्रांत के तेल और गैस का भंडार मौजूद हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*