?>

म्यांमार में एक ही दिन में 50 प्रदर्शनकारियों की मौत, कई ज़िलों में मार्शल लॉ की घोषणा

म्यांमार में एक ही दिन में 50 प्रदर्शनकारियों की मौत, कई ज़िलों में मार्शल लॉ की घोषणा

म्यांमार में सेना ने कई ज़िलों में मार्शल लॉ लगा दिया है। रविवार को हुई हिंसक घटनाओं के बाद विरोध प्रदर्शनों को रोकने के लिए यह क़दम उठाया गया है।

म्यांमार की सेना ने फ़रवरी में सरकार का तख़्तापलट करके सत्ता पर क़ब्ज़ा कर लिया था और आंग सान सू ची समेत दर्जनों नेताओं को जेलों में बंद कर दिया।

रविवार को देश के कई इलाक़ों पर पुलिस और सेना ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाई, जिसमें कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई है।

फ़रवरी के बाद एक दिन में सबसे अधिक संख्या में लोग रविवार को मारे गए. सबसे ज़्यादा मौतें यंगून में हुई हैं। सोमवार को भी 14 लोगों की मौत हो गई।

सू ची की नेशनल लीग फ़ॉर डेमोक्रेसी पार्टी में नवंबर में हुए आम चुनाव में जीत हासिल की थी। सेना ने एनएलडी के अधिकतर नेताओं को हिरासत में ले लिया है। सेना का आरोप है कि मतदान में धांधली की गई है। लेकिन सेना ने इस बारे में कोई सबूत नहीं दिए हैं।

एक फ़रवरी को हुई बग़ावत के बाद से सू ची को किसी अज्ञात जगह पर रखा गया है। सेना ने उन पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं, लेकिन उनके समर्थकों का कहना है कि सभी आरोप मनगढ़त हैं।

सोमवार को उन्हें अदालत में पेश किया जाना था, लेकिन इंटरनेट की समस्या के कारण वर्चुअल सुनवाई रद्द कर दी गई।

चीन के कई व्यापारिक ठिकानों पर हमले के बाद यांगून के दो ज़िलों में मार्शल लॉ लगाया गया। सोमवार को यांगून के कई अन्य इलाक़ों और मंडालय में भी मार्शल लॉ लगा दिया गया है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*