यमन में होने वाले अपराधों का ज़िम्मेदार अमेरिका है"अंसारुल्लाह

यमन में होने वाले अपराधों का ज़िम्मेदार अमेरिका है

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन के प्रवक्ता ने कहा है कि दुश्मन अलहुदैदा के आवासीय मकानों और मौलिक सेवाओं को तबाह कर देना चाहता है

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन के प्रवक्ता ने कहा है कि सऊदी अतिक्रमणकारी यमन में युद्धोन्मादी कार्यवाहियां अमेरिका के आदेश से कर रहे हैं।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार मोहम्मद अब्दुस्सलाम ने कहा कि किसी भी मोर्चे पर सैनिक स्थिति चिंताजनक नहीं है और यमनी लोगों को अपने देश की रक्षा के लिए दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश का सामना है।

उन्होंने बल देकर कहा कि दुश्मन अलहुदैदा के आवासीय मकानों और मौलिक सेवाओं को तबाह कर देना चाहता है।

पिछले सोमवार को भी मोहम्मद अब्दुस्लाम ने अमेरिकी राष्ट्रपति के हालिया बयान के आधार पर कहा था कि यमन में होने वाले समस्त अपराधों का ज़िम्मेदार अमेरिका है।

ट्रंम्प ने कहा था  कि सऊदी अरब यमन के विरुद्ध युद्ध में अमेरिकी हथियारों का दुरुपयोग कर रहा है।

ज्ञात रहे कि सऊदी अरब अमेरिका और इस्राईली हथियारों का क्षेत्र में सबसे बड़ा ख़रीदार है और मानवाधिकारों की रक्षा का दम भरने वाले हमला करने वाले देश के हाथों हथियार भेजते हैं और सऊदी अरब द्वारा किये जाने वाले अपराधों की न केवल भर्त्सना नहीं करते बल्कि उसका औचित्य भी पेश करते हैं।

उल्लेखनीय है कि 26 मार्च 2015 से सऊदी अरब ने यमन पर हमला किया था जो अब तक जारी है और साथ ही उसने यमन का हवाई, ज़मीनी और कड़ा समुद्री परिवेष्टन कर रखा है जिससे यमन के लोगों को खाद्य पदार्थों और दवाओं सहित ज़रूरी चीज़ों की भारी कमी का सामना है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं