?>

मुंबई, बांद्रा स्टेशन पर पहुंचे हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को पुलिस ने पीटा, गृहमंत्री का मुख्यमंत्री को फ़ोन, जताई चिंता

मुंबई, बांद्रा स्टेशन पर पहुंचे हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को पुलिस ने पीटा, गृहमंत्री का मुख्यमंत्री को फ़ोन, जताई चिंता

मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर बड़ी संख्या में प्रवासी मज़दूरों के पहुंचने और पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किए जाने की घटना के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को फोन कर चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना से कोरोना के ख़िलाफ देश की लड़ाई कमजोर पड़ेगी।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रशासन को ऐसी घटनाएं रोकने के लिए सतर्कता की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार के साथ मेरा समर्थन है।

उधर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख का कहना है कि शहर के बांद्रा स्टेशन के बाहर एकत्र हुए सैकड़ों प्रवासी मजदूरों को संभवत: आशा रही होगी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य की सीमाओं को खोलने का आदेश देंगे। उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें बता दिया है कि सीमाएं नहीं खुलेंगी और स्थिति अब नियंत्रण में है।

अनिल देशमुख ने कहा कि प्रवासियों को यह आश्वासन दिये जाने के बाद कि उनके रहने-खाने की व्यवस्था राज्य करेगा, भीड़ अपने-आप हट गई।

देशमुख ने कहा कि मुंबई में दूसरे राज्यों से आए लाखों लोग काम करते हैं। उन्होंने आशा की थी कि प्रधानमंत्री आज सीमाएं खोल देंगे। उन्हें लगा कि वे अपने गृह राज्य वापस जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि लेकिन प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने का बहुत सही फ़ैसला किया है। राज्यों की सीमाएं सील रहेंगी। महाराष्ट्र से दूसरे राज्यों में जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*