?>

मस्जिदुल अक़सा पर एक बार फिर ज़ायोनियों का हमला, स्थिति की ज़िम्मेदारी इस्राईल पर होगीः फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध

मस्जिदुल अक़सा पर एक बार फिर ज़ायोनियों का हमला, स्थिति की ज़िम्मेदारी इस्राईल पर होगीः फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध

अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन में ज़ायोनी बस्तियों में रहने वाले चरमपंथियों ने इस्राईली सैनिकों की मदद से मुसलमानों के पहले क़िब्ले यानी मस्जिदुल अक़सा पर एक बार फिर हमला किया है।

फ़िलिस्तीन अलयौम की रिपोर्ट के मुताबिक़ अवैध ज़ायोनी बस्तियों में रहने वाले चरमपंथियों ने शनिवार को एक बार फिर मस्जिदुल अक़सा पर धावा बोल दिया। इन चरमपंथियों ने मस्जिदुल अक़सा के प्रांगण में घुस कर इस्लाम विरोधी नारे भी लगाए जिसके बाद उनके और फ़िलिस्तीनियों के बीच भीषण झड़पें शुरू हो गईं।

पिछले हफ़्ते भी ज़ायोनी चरमपंथी, इस्राईली सैनिकों की मदद से ग़ैर क़ानूनी तौर पर मस्जिदुल अक़सा में घुस गए थे। मस्जिदुल अक़सा पर इस्राईली चरमपंथी ऐसी हालत में हमले कर रहे हैं कि जब फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधकर्ता गुटों ने चेतावनी दी है कि मुसलमानों के पहले क़िब्ले पर हमले के नतीजे में पैदा होने वाले हालात की ज़िम्मेदारी ख़ुद अवैध ज़ायोनी शासन पर होगी। फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधकर्ता गुटों ने घोषणा की है कि ज़ायोनी चरमपंथियों की आक्रामक कार्यवाहियों के नतीजे में एक और "बैतुल मुक़द्दस की तलावार" लड़ाई शुरू हो सकती है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*