?>

भारत में हर 16 मिनट में एक महिला का रेप, कोई भी राज्य सुरक्षित नहीं! सबसे भयानक शहर दिल्ली और सबसे ख़तरनाक राज्य उत्तर प्रदेश!

भारत में हर 16 मिनट में एक महिला का रेप, कोई भी राज्य सुरक्षित नहीं! सबसे भयानक शहर दिल्ली और सबसे ख़तरनाक राज्य उत्तर प्रदेश!

भारत सरकार के आंकड़े बता रहे हैं कि इस देश में हर सोलहवें मिनट में एक महिला का कहीं न कहीं रेप होता है जबकि देश का कोई भी राज्य एसा नहीं है जहां महिलाएं सुरक्षित हों।

हिंदुस्तान टाइम्ज़ के अनुसार नेशनल क्राइम रिकार्ड्ज़ ब्योरो एनसीआरबी की ओर से सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद जारी किए गए साल 2019 के आंकड़ों से पता चला कि एक साल में भारत में महिलाओं के साथ हिंसा और रेप की घटनाओं में लगभग 8 गुना की वृद्धि हुई है।

रिपोर्ट के अनुसार साल 2019 में राजधानी नई दिल्ली में महिलाओं के साथ हिंसा और रेप की सबसे ज़्यादा 12 हज़ार 902 घटनाएं रिकार्ड की गईं। जबकि मुंबई महिलाओं के शोषण, रेप और उनके साथ हिंसा की घटनाओं के मामले में दूसरे नंबर पर रहा जहां इस प्रकार की 6 हज़ार 519 घटनाएं दर्ज की गईं।

 

रेप की घटनाओं में नई दिल्ली सबसे आगे है लेकिन महिलाओं के साथ हिंसा और कुछ दूसरे अपराधों में मुंबई सबसे ऊपर है।

रिपोर्ट में बताया गया कि 2019 में नई दिल्ली में 1213 जयपुर में 517 और मुंबई में 394 रेप की घटनाएं हुईं।

इसी बारे में इंडिया डाट काम ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि भारत के 19 मेट्रोपोलिटन शहरों में सबसे कम रेप पश्चिमी बंगाल की राजधानी कोलकाता में रिकार्ड किए गए। 2019 में इस शहर में रेप की केवल 14 घटनाएं रिपोर्ट हुईं।

 

इंडिया डाट काम के अनुसार रिपोर्ट से यह इशारा मिलता है कि अन्य शहरों की तुलना में कोलकाता महिलाओं के लिए किसी हद तक सुरक्षित है लेकिन रिपोर्ट के आंकड़े असली सच्चाई से काफ़ी कम हैं क्योंकि बहुत से मामलों में घटनाओं को रजिस्टर्ड नहीं करवाया जाता।

ज़ी न्यूज़ ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि भारत भर में हर सोलहवें मिनट पर किसी न किसी महिला के साथ रेप हो जाता है।

पीड़ित महिलाओं में बुज़ुर्ग महिलाएं, कम उम्र की लड़कियां, अधेड़ उम्र की महिलाएं, नाबालिग सभी शामिल हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि महिलाओं के ख़िलाफ़ रेप ही नहीं अन्य प्रकार के अपराधों के मामले भी तेज़ी से बढ़े हैं।

 

राज्यों के हिसाब से देखा जाए तो उत्तर प्रदेश राज्य रेप और हिंसा के मामले में सबसे बुरी हालत में है। इस राज्य में 2019 में 59 हज़ार 853 केस दर्ज कराए गए जिनमें 5 हज़ार 997 केस रेप के थे।

दूसरे नंबर पर सबसे ख़तरनाक राज्य राजस्थान और तीसरे नंबर पर महाराष्ट्र रहा।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*