?>

भारत के उत्तर प्रदेश में दिल दहला देने वाली घटना, दलित परिवार के चार लोगों का कुल्हाड़ी से क़त्ल, पुलिस पर भी संदेह

भारत के उत्तर प्रदेश में दिल दहला देने वाली घटना, दलित परिवार के चार लोगों का कुल्हाड़ी से क़त्ल, पुलिस पर भी संदेह

भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के इलाहाबाद में जिसका नाम अब बदल कर प्रयागराज कर दिया गया है, एक दलित परिवार के चार लोगों की कुल्हाड़ी मार कर हत्या कर दी गई है।

हत्या के साथ परिवार की ही एक नाबालिग़ बच्ची के साथ गैंगरेप का आरोप भी लगा है, घटना प्रयागराज के फाफामऊ के मोहनगंज गोहरी गांव की है।

परिवार के 50 साल के मुखिया, उनकी 45 वर्षीय पत्नी, 16 साल की बेटी और 10 साल के बेटे की निर्मम हत्या कर दी गई है। यह घटना बुधवार की है जिस पर अब प्रशासन और मीडिया के स्तर पर हंगामा मचा हुआ है।

पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफ़आईआर में मृतक परिवार के रिश्तेदार का कहना है कि सुबह मोहल्ले में नौ बजे हल्ला हुआ कि मेरे बड़े भाई का घर बहुत समय से खुला नहीं है, जब हम वहां पहुँचे तो दरवाज़ा धकेलने पर खुल गया और हमे चारों के शव ख़ून से लथपथ मिले, लड़की के कपडे अस्त व्यस्त थे और ऐसा लग रहा था कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ है।

एफ़आईआर में आरोप लगाया है कि, "गांव के दबंग व्यक्ति आकाश सिंह, उनके पिता अमित सिंह, अमित सिंह की पत्नी बबली सिंह और आठ अन्य लोगों ने ज़मीन के विवाद के चलते 5 और 21 सितम्बर को दलित परिवार से मारपीट की, उन्होंने जान से मारने की धमकी दी, इस मामले की एफ़आईआर थाने में दर्ज है लेकिन अभी तक इसमें कोई करवाई नहीं की गई है।

मृतक की भाभी ने पुलिस की अभियुक्तों के साथ मिलीभगत का आरोप लगते हुए मीडिया से कहा, "सिपाही सुशील कुमार बार-बार आते थे हमारे दरवाज़े पर कि समझौता कर लो, समझौता कर लो. वो फाफामऊ चौकी पर सिपाही हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*