?>

भारत एक बार फिर दक्षिण एशिया में तीसरा सबसे ग़रीब देश बन सकता है, बांग्लादेश भी आगे निकलने को तैयार

भारत एक बार फिर दक्षिण एशिया में तीसरा सबसे ग़रीब देश बन सकता है, बांग्लादेश भी आगे निकलने को तैयार

सिर्फ़ 5 वर्ष पहले तक भारत का प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) बांग्लादेश से क़रीब 40 प्रतिशत अधिका था, लेकिन पिछले 5 वर्षों के दौरान, बांग्लादेश की जीडीपी ने प्रति वर्ष 9.1 प्रतिशत की दर से विकास किया है, जबकि भारत की विकास दर केवल 3.2 प्रतिशत रही है।

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ़) की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद के मामले में बांग्लादेश, भारत को पछाड़ते हुए आगे निकलने को तैयार है।

रिपोर्ट के मुताबिक़, साल 2020 में बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति जीडीपी 4 प्रतिशत बढ़कर 1,888 डॉलर होने की उम्मीद है, जबकि भारत की प्रति व्यक्ति जीडीपी 10.3 प्रतिशत से घटकर 1,877 डॉलर रहने की उम्मीद है।

आईएमएफ़ ने अनुमान जताया है कि इस साल भारत की जीडीपी में 10.3 प्रतिशत की गिरावट आ सकती है।

भारत के लिए आईएमएफ़ का यह अनुमान, जून में किए गए पूर्वानुमान से काफ़ी कम है। जून में आईएमएफ़ के पिछले पूर्वानुमान में कहा गया था कि उत्पादन 4.5 प्रतिशत कम हो जाएगा।

आईएमएफ़ के मुताबिक, भारत एक बार फिर दक्षिण एशिया में तीसरा सबसे ग़रीब देश बनने की ओर अग्रसर है। अब केवल पाकिस्तान और नेपाल की प्रति व्यक्ति जीडीपी भारत से कम होगी जबकि बांग्लादेश, भूटान, श्रीलंका और मालदीव जैसे देश भारत से आगे होंगे।

आईएमएफ़ का यह भी अनुमान है कि 2021 में भारत 8.8 प्रतिशत की विकास दर के साथ एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में वापसी कर सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक़, 2020 में अमरीका की अर्थव्यवस्था में 5.8 प्रतिशत गिरावट आने का अनुमान है, जबकि अगले वर्ष इसमें 3.9 प्रतिशत की वृद्धि होगी। लेकिन 2020 में दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में केवल चीन ही एकमात्र देश होगा, जिसकी अर्थव्यवस्था में 1.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की जायेगी।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*