दाढ़ी रखना है तो कॉलेज मत आओ, नामज़ पढ़ने से भी रोका।

दाढ़ी रखना है तो कॉलेज मत आओ, नामज़ पढ़ने से भी रोका।

अब तक मुस्लिम छात्र व छात्राओं के हिजाब पहनने, दाढ़ी रखने व टोपी पहनने पर अमेरिका, इंगलैंड व अन्य योरोपियन देशों में एतराज़ जताया जाता था, लेकिन अब इसको लेकर हैदराबाद में भी एतराज़ जताया जा रहा है....

अबनाः अब तक मुस्लिम छात्र व छात्राओं के हिजाब पहनने, दाढ़ी रखने व टोपी पहनने पर अमेरिका, इंगलैंड व अन्य योरोपियन देशों में एतराज़ जताया जाता था, लेकिन अब इसको लेकर हैदराबाद में भी एतराज़ जताया जा रहा है और एक कॉलेज पर मुस्लिम छात्रों के साथ भेदभाव करने का आरोप है।
मुसलमानों के साथ भेदभाव करने का मामला आब हैदराबाद के खांगी कॉलेज में भी पेश आया है। एक मशहूर गैर मुस्लिम शैक्षिक संस्थान की ओर से मुस्लिम छात्रों के टोपी पहनने और दाढ़ी रखने की इजाजत न देने की बात कही गई है।
कॉलेज प्रशासन ने ऐलान करवाया है कि किसी भी छात्र को दाढ़ी और टोपी के साथ कॉलेज में घुसने नहीं दिया जाएगा। जब इसको लेकर 10 मार्च से छात्रों के अभिभावक प्रिंसिपल से मिल रहे हैं लेकिन वे भी दाढ़ी और टोपी पहनकर आने की इजाजत नहीं दे रहे हैं। छात्रों ने बाया कि इन्होने संबंधित थाणे में शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky