महमूद अब्बास की नज़र में "डील ऑफ़ द सेन्चरी" फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ साज़िश का चरम है

महमूद अब्बास की नज़र में

स्वशासित फ़िलिस्तीनी प्रशासन के अध्यक्ष महमूद अब्बास ने "डील ऑफ़ द सेन्चरी" को फ़िलिस्तीनियों के ख़िलाफ़ साज़िश का चरम कहा है।

उन्होंने कहा कि फ़िलिस्तीन को बहुत सी साज़िशों का सामना है और उनकी नज़र में "डील ऑफ़ द सेन्चरी" इस साज़िश का चरम है।

इरना के अनुसार, महमूद अब्बास ने रविवार को अमरीका की "डील ऑफ़ द सेन्चरी" नामक योजना को रद्द करते हुए कहा कि फ़िलिस्तीन के विषय के सामने इस समय मुश्किल है और ज़ायोनी शासन "डील ऑफ़ द सेन्चरी" को लागू करने वाला है।

स्वशासित फ़िलिस्तीनी प्रशासन के अध्यक्ष ने एक बार फिर पूर्वी अलक़ुद्स (जेरूस्लम) की राजधानी वाले एक स्वाधीन फ़िलिस्तीनी देश की स्थापना पर बल देते हुए कहा कि फ़िलिस्तीनी डटे रहेंगे और क़ुद्स फ़िलिस्तीनियों का है।

अमरीकी योजना "डील ऑफ़ द सेन्चरी" के अनुसार, पूर्वी अलक़ुद्स को इस्राईल को देने का प्रावधान है, दूसरे देशों में शरणार्थी के रूप में फ़िलिस्तीनियों को फ़िलिस्तीन लौटने की इजाज़त नहीं होगी और फ़िलिस्तीनी सिर्फ़ अतिग्रहित पश्चिमी तट और नाकाबंदी से घिरे ग़ज़्ज़ा पट्टी के मालिक होंगे।

अमरीकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने "डील ऑफ़ द सेन्चरी" के तहत 6 दिसंबर 2017 को अतिग्रहित क़ुद्स को ज़ायोनी शासन की राजधानी के रूप में मान्यता देने का एलान किया और 14 मई 2018 को अमरीकी दूतावास को तेल अविव से बैतुल मुक़द्दस स्थानांतरित कर दिया। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

قدس راه شهداء
*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky