?>

पोप फ़्रांसिस ने की नस्लवाद की कड़ी निंदा बताया इसे ख़तरनाक वायरस

पोप फ़्रांसिस ने की नस्लवाद की कड़ी निंदा बताया इसे ख़तरनाक वायरस

ईसाइयों के सबसे बड़े धर्मगुरू पोप फ़्रांसिस ने नस्लवाद की निंदा करते हुए उसे ख़तरनाक वायरस बताया है।

पोप फ़्रांसिस ने ट्वीट करके नस्लभेद को एसे ख़तरनाक वायरस से संज्ञा दी है जो बहुत तेज़ी से बढ़ रहा है।  उन्होंने कहा कि नस्लभेद एसा वायरस है जो समाप्त होने के बजाए छिप जाता है और फिर वह हमले के लिए मौ़के की तलाश में रहता है।  उनका कहना है कि नस्लभेद हमको शर्मिंदा कर रहा है क्योंकि यह समाज में फैलता जा रहा है।

विशेष बात यह है कि पोप फ़्रांसिस ने नस्लभेद की निंदा करते समय किसी देश या स्थान की बात नहीं की जबकि हालिया दिनों में अमरीका के भीतर यह बुराई बहुत ही तेज़ी से बढ़ी है।  जानकारों का कहना है कि अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के काल में तो इसे बहुत अधिक बल मिला है।

इस बीच अमरीका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने यह बात स्वीकार की है कि देश में लंबे समय से नस्लभेद की बुराई पनप रही है।  उनका कहना था कि हमे अमरीका में उन क़ानूनों को बदलना होगा जिनसे नस्लभेद को बढ़ावा मिलता हो।  याद रहे कि अमरीका में आए दिन नस्लभेद की घटनाएं होती रहती हैं।  


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*