?>

पैग़म्बरे इस्लाम का अपमान अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है, गेंद पश्चिम के पाले में हैः पुतीन

पैग़म्बरे इस्लाम का अपमान अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है, गेंद  पश्चिम के पाले में हैः पुतीन

रूसी राष्ट्रपति ने कहा है कि पैग़म्बरे इस्लाम के अपमान को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का नाम नहीं दिया जा सकता।

समाचार एजेन्सी फार्स की रिपोर्ट के अनुसार व्लादिमीर पुतीन ने एक वार्षिक प्रेस कांफ्रेन्स में कहा कि पैग़म्बरे इस्लाम का अपमान अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है और पैग़म्बरे इस्लाम के अपमान से अतिवादी कार्यवाहियों को अधिक हवा दी जा सकती है।

व्लादिमीर पुतीन से जब तालेबान को मान्यता देने के बारे में सवाल किया गया तो उसके जवाब में उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के साथ अच्छा संबंध रखना रूस की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण विषय है।

उन्होंने कहा कि इस समय अफगानिस्तान में जो चीज़ सबसे ज़रूरी है और उसे अंजाम दिया जाना चाहिये वह इस देश को तबाह होने से बचाना है और जो देश दो दशकों तक अफगानिस्तान का अतिग्रहण किये रहे उन्हें अफगानिस्तान की मदद करने वाले देशों की पंक्ति में होना चाहिये।

इसी प्रकार उन्होंने यूक्रेन के बारे में कहा कि रूस यूक्रेन से युद्ध नहीं करना चाहता और पश्चिमी देशों को चाहिये कि वे मॉस्को की मांगों का जवाब दें। इसी प्रकार रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि गेंद अब पश्चिमी देशों के पाले है और अब उन्हें हमारा जवाब देना चाहिये।

उन्होंने कहा कि रूस और अमेरिका जनवरी में जनेवा में यूक्रेन के मामले के बारे में एक दूसरे से वार्ता करेंगे। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*