इमरान ख़ान का एेतिहासिक निर्णय, अपमानजनक कार्टून मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने का फ़ैसला

इमरान ख़ान का एेतिहासिक निर्णय, अपमानजनक कार्टून मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाने का फ़ैसला

पाकिस्तान ने हालैंड में अपमान जनक कार्टूनों के मुक़ाबले का मामला संयुक्त राष्ट्र संघ और इस्लामी सहयोग संगठन ओआईसी में उठाने की घोषणा की है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने घोषणा करते हुए कहा है कि हालैंड में अपमान जनक कार्टूनों के मुक़ाबले का मामला, संयुक्त राष्ट्र संघ सहित ओआईसी में उठाया जाएगा।

सीनेट में भाषण देते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा कि धर्म के अपमान जैसे मामले पर ओआईसी को अपनी भूमिका अदा करनी चाहिए, मुसलमानों की भावनाओं को भड़काने जैसी घटना का होना पूरी मुस्लिम जगत की विफलता है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि अपमानजनक कार्टूनों के मुक़ाबले सहित धार्मिक अपमान की अन्य चीज़ों पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास किए जाएंगे जिनमें ओआईसी को भी शामिल किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि वह पश्चिमी विचारों से अवगत हैं वह लोग अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर मुसलमानों की भावनाओं को आहत करते हैं, वहां के अधिकतर लोगों को यह पता ही नहीं कि मुसलमानों के दिलों में हज़रत मुहम्मद (स) की कितनी आस्था और प्रेम है।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के अनुसार सलमान रुशदी की शैतानी आयतों के बाद आज तक ऐसी जितनी भी घटनाएं घटीं, उनका लक्ष्य केवल मुसलमानों की भावनाओं को आहत करना ही है। श्री इमरान ख़ान ने कहा कि यूरोप के 4 देशों में होलोकास्ट पर चर्चा करने या इस बारे में अपमानजनक बात करने के विरुद्ध भी जेल की सज़ा दी जाती है क्योंकि उनका मानना है कि होलोकास्ट के बारे अपशब्द से यहूदियों की भावनाएं आहत होती हैं।

याद रहे कि जारी वर्ष जून के महीने में हालैंड की इस्लाम विरोधी पार्टी फ़्रिडम पार्टी आफ़ डच के विवादित नेता गीर्यट वुलडर्ज़ ने संसद में अपमानजनक कार्टूनों का मुक़ाबला करवाने की शर्मनाक घोषणा की थी। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं