हिज़्बुल्लाह, युद्ध के परिणाम भुगतने कि लिए सदैव तैयार है।

हिज़्बुल्लाह, युद्ध के परिणाम भुगतने कि लिए सदैव तैयार है।

हिज़्बुल्लाह के उपमहासचिव शैख़ नईम क़ासिम ने कहा है कि हिज़्बुल्लाह किसी भी खतरे का सामना करने के लिए तैयार है।

 हिज़्बुल्लाह के उपमहासचिव शैख़ नईम क़ासिम ने कहा है कि हिज़्बुल्लाह किसी भी खतरे का सामना करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि हमे रूस और ईरान के साथ अपने गठबन्धन पर पूरा भरोसा है विवाद और मन मुटाव का दौर बहुत पीछे छुट गया है।
उन्होंने तुर्की की सीरिया से हिज़्बुल्लाह की वापसी की बात को केवल एक राजनीतिक टिप्पणी बताते हुए कहा कि अब इस टिप्पणी की कोई हैसियत नहीं रह गई है।
सीरिया संकट के राजनीतिक समाधान पर उन्होंने कहा कि सीरिया संकट का समाधान बिना हिज़्बुल्लाह के सम्भव नहीं है।
उन्होंने ज़ायोनी शासन की और से युद्ध की सम्भावनाओ पर कहा का हम युद्ध कि परिणाम भुगतने कि लिए सदैव ही तैयार है क्या तुम भी युद्ध की कीमत चुकाने को तैयार हो?
उन्होंने लेबनान के आंतरिक मामलों पर कहा कि लेबनान में सत्ता संतुलन बदल रहा है। राष्ट्रपति द्वारा अपने एक और कार्यकाल के लिए रेफरेंडम की बात सियासी दलों पर दबाव डालने लिए है ।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky