हसन नस्रुल्लाह:

इस्राईल का हिज़्बुल्लाह को सबसे बड़ा ख़तरा समझना हमारे लिए गर्व की बात है।

इस्राईल का हिज़्बुल्लाह को सबसे बड़ा ख़तरा समझना हमारे लिए गर्व की बात है।

हिज़्बुल्लाह सदैव हाई अलर्ट की स्थिति में रहता है यही कारण है कि शत्रु सिर्फ धमकाने की हद तक रह गया है।

हिज़्बुल्लाह के जनरल सेक्रेटरी हसन नसरुल्लाह ने बृहस्पतिवार को हिज़्बुल्लाह के ३ नायको के शहादत दिवस पर आयोजित सम्मलेन में कहा कि हमारे दुश्मन अगर हमारे बारे में सारी जानकारी रखने का वहम पाले हैं तो सुन लें कि तुम्हे अचंभित करने के लिए हमारे पास बहुत कुछ सुरक्षित है जो हमारे फौजी रहस्य भी हैं।
उन्होंने सीरिया संकट पर कहा कि विजय प्राप्त करने के लिए मात्र हवाई हमले पर्याप्त नहीं है अगर ज़मीनी युद्ध के लिए सीरियन आर्मी न होती तो यह जीत अधूरी थी।
उन्होंने कहा कि हिज़्बुल्लाह सदैव हाई अलर्ट की स्थिति में रहता है यही कारण है कि शत्रु सिर्फ धमकाने की हद तक रह गया है। उन्होंने कुछ अरब देशों द्वारा इस्राईल को दिए जा रहे समर्थन पर कहा कि इस्राईल इन सबके बाद भी अपने उद्देश्य में सफल नहीं हो सकता। हिज़्बुल्लाह की ताक़त और प्रतिरोध तथा राष्ट्रपति के दृढ संकल्प ने ज़ायोनी सत्ता के हमलों के मंसूबों पर पानी फेर दिया है। उन्होंने ट्रम्प के सत्ता सम्भालने के बाद ज़ायोनी धमकियों पर कहा यह कोई नई बात नहीं है वह सदैव ही प्रतिरोध को डराने के लिए यह भाषा प्रयोग करते रहे है।
ज्ञात रहे कि १६ फरवरी हिज़्बुल्लाह के ३ वीरों शैख़ रागिब, शैख़ अब्बास, एमाद नस्र का शहादत दिवस है जो हिज़्बुल्लाह आंदोलन के लिए वर्षों तक अतिक्रमणकारी ज़ायोनिस्ट से लड़ते रहे हैं।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

*शहादत स्पेशल इश्यू*  शहीद जनरल क़ासिम सुलैमानी व अबू महदी अल-मुहंदिस
conference-abu-talib
We are All Zakzaky