?>

पर्यावरण समर्थकों की कोशिशें रंग लाईं, कनाडा और अमरीका के बीच रद्द हुई तेल पाइपलाइन परियोजना

पर्यावरण समर्थकों की कोशिशें रंग लाईं, कनाडा और अमरीका के बीच रद्द हुई तेल पाइपलाइन परियोजना

समाचारिक सूत्रों के अनुसार अमरीका और कनाडा के बीच तेल पाइपलाइन परियोजना को रद्द कर दिया गया है जिसका विरोध पर्यावरण का समर्थन करने वाले कई दल कर रहे थे।

गार्डियन समाचारपत्र के अनुसार कनाडा और अमरीका के बीच Keystone XL नामक विस्तृत तेल पाइपलाइन परियोजना को रद्द कर दिया गया जिसने दोनो देशों के संबन्धों को प्रभावित किया है।  यह 9 अरब डाॅलर से अधिक की परियोजना थी जो सन 2008 में आरंभ हुई थी।

अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने जब 1200 मील लंबी इस परियोजना के रद्द किये जाने की घोषणा की तो कैनेडियन कंपनी TransCanada की ओर से भी इस परियोजना के रोके जाने का एलान कर दिया गया।

उत्तरी अमरीका की तेल पाइप लाइनों को रिसाव और उससे संबन्धित ख़तरों के साथ ही पर्यावरण का समर्थन करने वाले गुटों के विरोध का सामना है।  जब बाइडन ने पहले दिन सत्ता की बागडोर अपने हाथों में ली थी तो उन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प के काल के बहुत से फैसलों को रद्द कर दिया था।

अमरीकी राष्ट्रपति बाइडेन के फैसले पर कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपनी प्रतिक्रिया में इस निराश करने वाला फैसला बताया है।  अमरीका में आयात होने वाले तेल का आधे से अधिक हिस्सा कनाडा के माध्यम से अमरीका पहुंचता है।  यही कारण है कि अमरीका को कनाडा का बहुत महत्वपूर्ण सहयोगी माना जाता है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*